MP को मिलेगी रूसी वैक्सीन स्पूतनिक, CM शिवराज ने टीके के आयात की संभावनाओं पर बुलाई बैठक

कोरोना: शिवराज सरकार रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी के आयात की संभावनाएं तलाश रही है.

कोरोना: शिवराज सरकार रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी के आयात की संभावनाएं तलाश रही है.

MP में कोवैक्सीन और कोविशिल्ड के बाद अब लोगों को रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी (Russian Vaccine Sputnik V) डोज भी लग सकेंगे. शिवराज सरकार स्पूतनिक वी के आयात की संभावना तलाश रही है.

  • Last Updated: May 8, 2021, 9:07 PM IST
  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश में को वैक्सीन और कोविशिल्ड के बाद अब लोगों को रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी (Russian Vaccine Sputnik V) डोज भी लग सकेगी. प्रदेश सरकार स्पूतनिक वी के आयात की संभावना तलाश रही है. शनिवार को हुई कोर ग्रुप की बैठक में सीएम शिवराज ने इस सिलसिले में जानकारी दी. CM ने कहा कि आने वाले समय में वैक्सीन आयात करने की संभावना पर भी विचार किया जा रहा है. अनुमान लगाया जा रहा है कि रूस से जून के पहले महीने से स्पूतनिक वैक्सीन मिल सकेगी.

फिलहाल मध्यप्रदेश में 18 लोगों को को वैक्सीन और कोविशिल्ड के डोज लगाए जा रहे हैं. इसके साथ ही बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में हर कोविड मरीज को इलाज के लिए आवश्यकता अनुसार सामान्य, ऑक्सीजन एवं आईसीयू बिस्तर उपलब्ध कराए जाएंगे. इसके लिए हर जिले में बिस्तर बढ़ाए गए हैं. जिले यह सुनिश्चित करें कि हर कोविड मरीज़ को उपचार के लिए अस्पतालों में बिस्तर मिलें. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना को छुपाएं नहीं बताएं. शुरू में ही दवा होने पर यह बीमारी ठीक हो जाती है. किल कोरोना अभियान के तहत घर-घर सर्वे अभियान चलाया जा रहा है.

नए मामलों में गिरावट

सरकारी आंकड़ों में प्रदेश में कोरोना के नए मामलों में गिरावट आ रही है. पिछले 24 घंटे में 11598 नए प्रकरण आए हैं, 4445 मरीज स्वस्थ हुए हैं. सक्रिय प्रकरणों की संख्या 01,02,486 है. पिछले तीन हफ्ते से साप्ताहिक नए प्रकरणों में कमी आ रही है. संक्रमण की दृष्टि से प्रदेश देश में 15वें स्थान पर आ गया है. प्रदेश की सात दिन की औसत पॉजिटिविटी रेट 19 प्रतिशत है. प्रदेश में कुल कोरोना मरीजों में 75% होम आइसोलेशन में हैं तथा 25%  अस्पतालों में है, जिनमें से 14% ऑक्सीजन बैड्स पर, 7% आईसीयू बेड्स पर तथा 4% मरीज सामान्य बैड्स पर हैं.
कोविड उपचार योजना

मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के तहत प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती 515 पात्र मरीजों को नि:शुल्क कोविड इलाज का लाभ दिया जा रहा है. इसमें 19 लाख 46 हजार 700 रूपए की राशि अब तक अस्पतालों को शासन की ओर से दी जाएगी. वहीं प्रदेश में कोविड के इलाज के लिए निजी चिकित्सालयों द्वारा अधिक राशि लिए जाने के कुल 72 प्रकरणों में 15 लाख 97 हजार रूपए की राशि मरीजों के परिजनों को लौटाई गई है तथा 25 व्यक्तियों के‍ विरूद्ध FIR दर्ज की गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज