राहुल गांधी को हिरासत में लेने पर कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन, जगह-जगह फूंके पीएम के पुतले

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को हिरासत में लेने के विरोध मध्यप्रदेश के कई जिलों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह प्रधानमंत्री के पुतले जलाकर गिरफ्तारी का विरोध किया है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को हिरासत में लेने के विरोध मध्यप्रदेश के कई जिलों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह प्रधानमंत्री के पुतले जलाकर गिरफ्तारी का विरोध किया है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को हिरासत में लेने के विरोध मध्यप्रदेश के कई जिलों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह प्रधानमंत्री के पुतले जलाकर गिरफ्तारी का विरोध किया है.

  • Pradesh18
  • Last Updated: November 3, 2016, 11:48 AM IST
  • Share this:
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को हिरासत में लेने के विरोध मध्यप्रदेश के कई जिलों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह प्रधानमंत्री के पुतले जलाकर गिरफ्तारी का विरोध किया है.



दरअसल, दिल्ली के जंतर-मंतर पर सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन के मामले पर प्रदर्शन कर रहे पूर्व फौजी रामकिशन ग्रेवाल के सुसाइड के मामले पर राजनीतिक घमासान तेज हो गया है.



पूर्व फौजी के परिजनों से मिलने आरएमएल अस्पताल पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया.





राहुल गांधी के खिलाफ पुलिस कार्रवाई को लेकर कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में भी मोर्चा खोल दिया है. प्रदेश युवक कांग्रेस अध्यक्ष कुणाल चौधरी के नेतृत्व में राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के कई जिलों में प्रधानमंत्री का पुतला फूंका गया.
कुणाल चौधरी ने कहा कि राहुल गांधी को दिल्ली में बेवजह हिरासत में लेना लोकतंत्र की हत्या है. पूरे मध्यप्रदेश में इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जाएगा.



युवक कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि सैनिक के परिजनों से राहुल गांधी को मिलने नहीं दिया गया. उन्होंने आरोप लगाया कि सरकारी तानाशाही कर रही है.



क्या है पूरा मामला



दिल्ली के जंतर मंतर पर खुदकुशी करने वाले पूर्व फौजी रामकिशन ग्रेवाल के परिजनों से मिलने जा रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में थोड़ी देर रखने के बाद छोड़ दिया है.



Rahul Gandhi Arrest 02



जंतर-मंतर पर वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर रामकिशन ग्रेवाल ने खुदकुशी कर ली थी. राम किशन के परिजनों का कहना है कि मंगलवार दोपहर रामकिशन अपने साथियों के साथ रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर से मिलने जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही रामकिशन ने जहर खा लिया.



दरअसल, जो ज्ञापन रामकिशन अपनी मांगों को लेकर रक्षा मंत्री को देने जा रहे थे, उसी पर उन्होंने सुसाइड नोट लिखकर जहर खा लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज