अपना शहर चुनें

States

भाजपा ने 'शहरों' में 'सरकार' बनाने झोंकी ताकत, सात दिन चुनावी मोर्चे पर रहेंगे शिवराज

मध्यप्रदेश में नगरीय निकायों में हो रहे चुनाव में सत्ताधारी भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है. पार्टी ने अपने तुरुप के पत्ते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बुधवार से चुनाव प्रचार के मोर्चे पर उतार दिया है.
मध्यप्रदेश में नगरीय निकायों में हो रहे चुनाव में सत्ताधारी भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है. पार्टी ने अपने तुरुप के पत्ते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बुधवार से चुनाव प्रचार के मोर्चे पर उतार दिया है.

मध्यप्रदेश में नगरीय निकायों में हो रहे चुनाव में सत्ताधारी भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है. पार्टी ने अपने तुरुप के पत्ते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बुधवार से चुनाव प्रचार के मोर्चे पर उतार दिया है.

  • Share this:
मध्यप्रदेश में नगरीय निकायों में हो रहे चुनाव में सत्ताधारी भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है. पार्टी ने अपने तुरुप के पत्ते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बुधवार से चुनाव प्रचार के मोर्चे पर उतार दिया है. अगले सात दिनों तक सीएम ज्यादातर निकायों में करीब 3 दर्जन चुनावी सभाएं और रोड शो करेंगे. आदिवासी बहुल 37 निकायों समेत कुल 44 नगरीय निकायों के लिए 11 अगस्त को मतदान होने हैं.

आदिवासी इलाकों के नगरीय निकायों में हो रहे इन चुनावों में किसानों का उग्र आन्दोलन, मंदसौर गोलीकांड, प्याज खरीदी और मौजूदा सरदार सरोवर बांध विस्थापितों को लेकर बीजेपी संगठन और शिवराज सरकार सवालों के घेरे में है. हाल के दिनों में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने सदन से लेकर सड़क तक राज्य सरकार को घेरने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी. ऐसे में सीएम की खुद की साख भी दांव पर है.

इन स्थानीय निकायों में पांच साल पहले हुए चुनाव में सत्ताधारी भाजपा ने 44 में से 26 निकायों पर जीत का परचम लहराया था. इस बार प्रदेश संगठन की कोशिश शत प्रतिशत नगरों में कांग्रेस को पटखनी देने की है. 16 अगस्त को मतगणना होनी है. रिजल्ट आने के एक दिन बाद ही 18 अगस्त की सुबह राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तीन दिनों के दौरे पर भोपाल पहुंचेंगे. ऐसे में सत्ता और संगठन पर निकाय चुनावों में जीत हासिल करने का दबाव होना स्वाभाविक है.



नगरीय चुनावों के तूफानी दौरा कार्यक्रम के तहत सीएम अनूपपुर, शहडोल, डिंडोरी, शाहपुरा, निवास, नैनपुर, बिछिया, मंडला, छनेरा, नेपानगर, महेश्वर, मंडलेश्वर, सनावद, भीकनगांव, पांर्ढुना, मोहगांव, सौंसर, हरई, जुन्नारदेव, दमुआ, सारणी, आठनेर, चिचैली, कैलारस, डबरा,अलीराजपुर, भाबरा, माल्यार्पण, जोबट, राणापुर, झाबुआ, थांदला, पेटलावद और सैलाना नगर पालिका और नगर परिषदों में जाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज