कांग्रेसी वेबसाइट ने छापी रिपोर्ट- मध्य प्रदेश में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार

ये सर्वे गुटों में बंटे कांग्रेस नेताओं के लिए चेतावनी है. अगर अब भी एक ना हुए तो सत्ता से दूर ही रहोगे.

Makarand Kale | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 31, 2018, 2:14 PM IST
कांग्रेसी वेबसाइट ने छापी रिपोर्ट- मध्य प्रदेश में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटो)
Makarand Kale | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 31, 2018, 2:14 PM IST
नेशनल हैराल्ड कह रहा है कि मध्य प्रदेश में फिर बीजेपी की सरकार बनने जा रही है. अगर ऐसा हुआ तो प्रदेश में बीजेपी की ये चौथी पारी होगी. ये ख़बर एक सर्वे रिपोर्ट के आधार पर उसकी वेबसाइट में छापी गयी है.

मध्यप्रदेश के हालात का चुनावी सर्वे स्पीक मीडिया नेटवर्क ने किया था. सर्वे रिपोर्ट नेशनल हैरॉल्ड ने छापी है. सर्वे में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिलता दिख रहा है. इस सर्वे के मुताबिक मध्य प्रदेश में अगर कांग्रेस और बीएसपी के बीच गठबंधन नहीं होता है तो बीजेपी को उसका सीधा फायदा मिलेगा और उसे 147 सीटें मिलेंगी. कांग्रेस सिर्फ 73 सीटें जीत पाएगी और बसपा के खाते में 10 सीट जाएंगी. अगर कांग्रेस-बीएसपी गठबंधन हो गया तब भी बीजेपी 126 सीटें जीत सकती है और कांग्रेस-बीएसपी गठबंधन 103 सीट ही हासिल कर पाएगा.यानि दोनों ही हालात में सरकार तो बीजेपी की ही बनती दिख रही है.



नेशनल हेरॉल्ड में छपी सर्वे रिपोर्ट
नेशनल हेरॉल्ड में छपी सर्वे रिपोर्ट


नेशनल हेरॉल्ड की वेबसाइट में प्रकाशित चुनाव पूर्व सर्वे में बताया गया है कि अगर कांग्रेस का बीएसपी के साथ गठबंधन नहीं हुआ तो राज्य में चौथी बार भी 147 सीटों के साथ बीजेपी की सरकार बनेगी. अगर गठबंधन हुआ तब भी बीजेपी की सरकार बनना तय है. स्पिक मीडिया नेटवर्क के सर्वे के मुताबिक गठबंधन की सूरत में भी विधानसभा की 230 सीट में से बीजेपी को 126 सीट मिलेंगी. बहुतम के लिए 115 सीट चाहिए.

अगर कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ी तो उसे सिर्फ 73 सीट मिल पाएंगी. सर्वे ये भी कहता है कि मध्यप्रदेश में सीएम शिवराज सिंह और पीएम मोदी की लोकप्रियता बरकरार है. नेशनल हेरॉल्ड में छपा सर्वे इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि ये कांग्रेस विचारधारा समर्थित अख़बार है.

ये भी पढ़ें - अजय सिंह ने भूपेन्द्र सिंह को लिखा, आप राजनीतिक मज़े लेने के लिए गृहमंत्री नहीं बने हैं

बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस के गठबंधन की कोशिश कामयाब होगी कि नहीं!
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...