MP: चुनाव में नक्सल टेंशन, पैरामिलिट्री फोर्स की 62 कंपनी, 2 हेलिकॉप्टर की डिमांड

लांजी के नक्सल प्रभावित इलाके में पूर्व मंत्री कांग्रेस नेता लिखीराम कांवरे की नक्सलियों ने हत्या कर दी थी. इसी सीट से उनकी बेटी हिना कांवरे कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीती हैं.

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 27, 2019, 10:37 AM IST
MP: चुनाव में नक्सल टेंशन, पैरामिलिट्री फोर्स की 62 कंपनी, 2 हेलिकॉप्टर की डिमांड
(फाइल फोटो)
Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 27, 2019, 10:37 AM IST
मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव में नक्सलियों ने पुलिस की टेंशन बढ़ा रखी है. पुलिस मुख्यालय को पिछले दिनों ऐसा इनपुट मिला था कि नक्सली चुनाव प्रभावित कर सकते हैं. इस इनपुट के बाद पुलिस मुख्यालय ने चुनाव आयोग से पैरामिलिट्री की 68 कंपनियां और दो हेलिकॉप्टर की डिमांड की है.पुलिस की प्राथमिकता संवेदनशील बूथों के साथ वोटर्स की सुरक्षा है.

प्रदेश के बालाघाट और मंडला नक्सल प्रभावित हैं. इन्हीं दो ज़िलों में नक्सल टेंशन है. इसलिए यहां पुलिस और सुरक्षा बलों की ज़्यादा तैनाती करने का प्लान है, ताकि नक्सलियों पर दबाव बना रहे. मध्यप्रदेश पुलिस छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र पुलिस के साथ मिलकर नक्सलियों के मूवमेंट पर नज़र रखे हुए है.नक्सलियों के कई गांवों में चुनाव बहिष्कार और चुनाव प्रभावित करने का इनपुट पुलिस इंटेलिजेंस को मिला है. उसके बाद बालाघाट संसदीय क्षेत्र के लिए अतिरिक्त फोर्स मांगा गया है.बालाघाट में फोर्स की तैनाती भी शुरू कर दी गई है. छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र इंटेलिजेंस से जानकारी साझा की जा रही है. नक्सलियों का ट्रेड होता है कि वो चुनाव बहिष्कार की बात करते हैं.



ये भी पढ़ें - Lok Sabha Election : बीजेपी के 'चौकीदार' का कांग्रेस देगी 'न्याय' से जवाब

मध्यप्रदेश में घटनाओं और गतिविधियों को देखते हुए 9 ज़िलों को नक्सल प्रभावित माना जाता है.बालाघाट में नक्सली मूवमेंट की वजह से पहले ही हाईअलर्ट है.अब लोकसभा चुनाव को देखते हुए बालाघाट के साथ प्रभावित जिलों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं.

-नक्सल प्रभावित ज़िले - बालाघाट, सिवनी, मंडला, डिंडौरी, शहडोल, अनूपपुर, उमरिया, सीधी,

-सिंगरौली विधानसभा सीट-बालाघाट, मंडला, शहडोल, सीधी

-बालाघाट ज़िले में नक्सलियों का प्रभाव - बैहर तहसील के 100 से अधिक गांव, परसवाड़ा तहसील के 80 गांव,
Loading...

-लांजी तहसील के 180 गांव

बालाघाट वो ज़िला है, जिसका एक इलाका लांजी है. यहां मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमाएं जंगल के बीच एक जगह मिलती हैं और यह जंगल नक्सलियों की आसान पहुंच में है.ठीक इसी तरह का एक तिकोना सिंगरौली ज़िले में है. जहां मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और उत्तरप्रदेश की सीमाएं मिलती हैं. ये इलाका भी नक्सल प्रभावित है.

ये भी पढ़ें - लोकसभा चुनाव 2019 : ग्वालियर-चंबल में क्या फिर तैयार हो रहे हैं बाग़ी!

लांजी के इसी नक्सल प्रभावित इलाके में पूर्व मंत्री कांग्रेस नेता लिखीराम कांवरे की नक्सलियों ने हत्या कर दी थी.इसी सीट से उनकी बेटी हिना कांवरे कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीती हैं.हाल ही में विधानसभा उपाध्यक्ष हिना कांवरे के साथ दूसरे जनप्रतिनिधियों को नक्सलियों से फिरौती के लिए धमकी भरे पत्र भी मिले थे.सूत्रों ने ये भी बताया है कि बालाघाट संसदीय क्षेत्र में इन दिनों विस्तार दलम के साथ मलाजखंड और परसवाड़ा दलम ही नहीं प्लाटून 55 भी सक्रिय है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार