होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /सर्दी आते ही एमपी में बढ़ जाता है नक्सली मूवमेंट, गर्म कपड़ों की आड़ में हथियारों की सप्लाई

सर्दी आते ही एमपी में बढ़ जाता है नक्सली मूवमेंट, गर्म कपड़ों की आड़ में हथियारों की सप्लाई

सर्दी के मौसम में नक्सली बालाघाट डिंडोरी और मंडला जिले में सबसे ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं.( सांकेतिक तस्वीर)

सर्दी के मौसम में नक्सली बालाघाट डिंडोरी और मंडला जिले में सबसे ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं.( सांकेतिक तस्वीर)

मध्यप्रदेश में तेजी से नक्सली मूवमेंट बढ़ रहा है. इस मौसम में नक्सली अपने नेटवर्क को मजबूत करने के साथ कई दीगर काम को अ ...अधिक पढ़ें

भोपाल. सर्दी बढ़ते ही मध्य प्रदेश में नक्सली गतिविधियां तेज हो गयी हैं. हर साल यहां आम दिनों के मुकाबले ठंड में नक्सली मूवमेंट बढ़ जाता है. नक्सली इस सीजन को सबसे मुफीद मानते हैं इसी सीजन में नक्सली अपने नेटवर्क को मजबूत करने के साथ फंडिंग भी करते हैं.

मध्यप्रदेश में तेजी से नक्सली मूवमेंट बढ़ रहा है. इस मौसम में नक्सली अपने नेटवर्क को मजबूत करने के साथ कई दीगर काम को अंजाम देते हैं. ठंड के दौरान महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश की सीमा पर नक्सली अपनी गतिविधियां बढ़ा देते हैं. नक्सली इस सीजन को सबसे सुरक्षित मानते हैं. उन्हें लगता है कि कोहरे की वजह से उन्हें फायदा मिलता है. साथ ही पुलिस का मूवमेंट भी दूसरे सीजन के मुकाबले कम रहता है. मुख्य मार्गो तक पेट्रोलिंग सिमट कर रह जाती है. गर्म कपड़े और कंबल साथ होने की वजह से हथियारों की सप्लाई भी आसानी से हो जाती है. इसी वजह से नक्सली अपनी गतिविधियों को आसानी से संचालित करने के साथ मूवमेंट करते हैं. बालाघाट डिंडोरी और मंडला जिले में नक्सली सबसे ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं.

ठंड में करते हैं ये काम
-फंडिंग कलेक्शन

-हथियारों की सप्लाई

-नए सदस्य बनाना

-नेटवर्क का विस्तार

नक्सल विरोधी अभियान के आईजी साजिद फरीद शापू ने कहा बारिश के मुकाबले ठंड के मौसम में नक्सलियों का मूवमेंट बढ़ता है इस सीजन में हॉक फोर्स के जवान अलर्ट पर रहते हैं. हमें सफलता भी मिल रही है. सर्चिंग और पेट्रोलिंग बढ़ाई गई है. नक्सलियों के हर एक मूवमेंट पर नजर रखी जाती है. मुखबिर तंत्र के जरिए तमाम जानकारी जुटायी जाती है. उन्होंने कहा ठंड का मौसम पुलिस फोर्स के लिए चुनौती भरा रहता है. इस चुनौती का सामना फोर्स करता है और नक्सलियों पर नजर रखी जाती है.

Tags: Anti naxal operation, Naxal affected area, Naxal Movement in India, Naxal search operation, Naxal violence, Naxalites

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें