लाइव टीवी

मिठाई के साथ उसकी पूरी जानकारी भी शो-केस में डिस्प्ले करना होगी....ये है नयी गाइड लाइन
Bhopal News in Hindi

Puja Mathur | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 25, 2020, 12:43 PM IST
मिठाई के साथ उसकी पूरी जानकारी भी शो-केस में डिस्प्ले करना होगी....ये है नयी गाइड लाइन
फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया की मिलावट के खिलाफ नयी मुहिम

प्रदेश में अब तक दूध और दूध से बने सामान के 2500 से अधिक नमूने लिए जा चुके हैं जिनकी जांच कराई जा रही है. जिनके नमूने में मिलावट और अमानक पाए गए है उनके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जा रही है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में शुद्ध के लिए युद्ध (shuddh ke liye yuddh) अभियान तो चल ही रहा है अब इसमें फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Food Safety and Standards Authority of India) का सहयोग भी मिलने वाला है. उसने अपने उपभोक्ताओं की सेहत का ख्याल रखते हुए एक नई गाइडलाइन जारी की है. इसमें मिठाई व्यवसाइयों को अब शो-केस में मिठाई के साथ उसकी पूरी जानकारी भी डिस्प्ले करना होगी.  ये गाइडलाइन पूरे देश में 1 जून से लागू की जाएगी.

फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने नयी गाइडलाइन देशभर में 1 जून से लागू करने के निर्देश जारी कर दिए हैं. नए आदेश के तहत मिठाई कारोबारियों को अब शो-केस में रखी मिठाई की पूरी जानकारी देनी होगी. यानी मिठाई का नाम, दाम, कब बनायी गयी और इसे कब तक इस्तेमाल किया जा सकता है. ये सारी जानकारी शो-केस में रखी मिठाई की ट्रे पर डिस्प्ले करना होगा. अभी तक ये जानकारी मिठाई के डिब्बे या पैकिंग पर दर्ज होती थी.

हेल्थ से खिलवाड़ नहीं सहेगी संस्था
भोपाल में मिठाई की करीब 15 सौ दुकानें हैं.इन सभी दुकानों पर ये नई व्यवस्था 1 जून से लागू कर दी जाएगी. आदेश का पालन ना करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.फिलहाल राज्य सरकार बड़े स्तर पर शुद्ध के लिए युद्ध अभियान चला रही है. लगातार दुकानों और गोदामों पर छापा मारकर मिलावट मिलने पर रासुका के तहत भी केस दर्ज किए जा रहे हैं.



शुद्ध के लिए युद्ध
प्रदेश में अब तक दूध और दूध से बने सामान के 2500 से अधिक नमूने लिए जा चुके हैं जिनकी जांच कराई जा रही है. जिनके नमूने में मिलावट और अमानक पाए गए है उनके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जा रही है. प्रदेश में आम जनता से मिलने वाली शिकायतों पर त्वरित करवाई कराई जा रही है. शिकायत के कुछ देर में ही खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम कार्रवाई के लिए मौके पर पहुंच जाती है.

देशव्यापी चलेगा अभियान
सेहत से खिलवाड़ पूरे देश भर में किया जा रहा है. इससे बड़ी संख्या में लोगों को बीमारियां मिल रही हैं.इस शिकायत पर लोगों की सेहत से खिलवाड़ करना अब खाद्य व्यपारियों को महंगा पड़ सकता है क्योंकि खाद्य पदार्थ अमानक पाए जाने पर कारोबारी के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें-

राज्यसभा चुनाव : नोटिफिकेशन जारी, 26 मार्च को MP की 3 सीटों का भी होगा फैसला

E-Tender घोटाला: पूर्व CS वी पी सिंह,प्रमुख सचिव मनीष रस्तोगी देंगे गवाही

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 25, 2020, 12:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर