आप मकान मालिक हैं या किराएदार, जरूरी है आपके लिए ये खबर, क्योंकि..
Bhopal News in Hindi

आप मकान मालिक हैं या किराएदार, जरूरी है आपके लिए ये खबर, क्योंकि..
मध्य प्रदेश में किराएदारी एक्ट में बदलावा का ड्राफ्ट तैयार कर लिया गया है. (फाइल फोटो)

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में अब नया किराएदारी एक्ट 2020 लागू होने जा रहा है. नगरीय विकास एवं आवास विभाग ने इस एक्ट को लेकर ड्राफ्ट तैयार कर लिया है.

  • Share this:
भोपाल. मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में अब नया किराएदारी एक्ट 2020 लागू होने जा रहा है. नगरीय विकास एवं आवास विभाग ने इस एक्ट को लेकर ड्राफ्ट तैयार कर लिया है. विभाग ने इस ड्राफ्ट को केंद्र सरकार को सहमति के लिए भेजा है. केंद्र की मंजूरी मिलने के बाद गजट नोटिफिकेशन किया जाएगा. राज्य सरकार इस नए एक्ट को शुरुआत में नगरीय क्षेत्रों में लागू करेगी. बाद में इस एक्ट को ग्रामीण क्षेत्रों वाले शहरों में भी लागू किया जाएगा. नए एक्ट में कई अ​हम बदलावा किए गए हैं. इसका सीधा असर मकान मालिकों और किरायेदारों पर पड़ेगा.

बता दें कि किराएदारी एक्ट में बदलावा को लेकर लंबे समय से प्रक्रिया चल रही थी. प्रदेश में फिर से शिवराज सरकार बनने के बाद अब किराएदारी एक्ट 2020 लागू करने का ड्राफ्ट तैयार कर लिया गया है.

ये हैं एक्ट में प्रावधान
-मकान मालिक और किराएदार के बीच एग्रीमेंट खत्म होने पर किराएदार को मकान खाली करना होगा.
- यदि एग्रीमेंट खत्म होने के बावजूद भी किराएदार मकान खाली नहीं करता है तो उसे पहले 2 माह में दोगुना और तीसरे महीने से 4 गुना किराया देना होगा.


- किराएदार और मकान मालिक के बीच का विवाद की स्थिति में सिविल कोर्ट में अपील नहीं हो सकेगी.
-ऐसे मामलों को एक सदस्य किराया ट्रिब्यूनल, किराया प्राधिकारी और रेंट कोर्ट में निपटाया जाएगा.
-किराया मकान मालिक और किराएदार की सहमति से बढ़ेगा। एग्रीमेंट होने के 60 दिन के अंदर किराया प्राधिकारी को बताना होगा.
- मकान मालिक और किराएदार का एग्रीमेंट उनकी मृत्यु के बाद भी उनके उत्तराधिकारी पर भी लागू होगा जबरन घर खाली नहीं करा सकेंगे.
- प्रदेश या फिर दूसरी जगहों पर रहने वाले मकान मालिकों की सहमति पर उनके प्रॉपर्टी मैनेजर या फिर रेंट एजेंट काम करेंगे। इन प्रॉपर्टी मैनेजर और रेंट एजेंट का बकायदा रजिस्ट्रेशन होगा.
- एक्ट के लागू होने के बाद भी सिविल कोर्ट में पेंडिंग मकान मालिक और किराएदार के बीच विवाद पुराने कानून के तहत जारी रहेंगे.
- मकान में टूट-फूट या फिर मरम्मत को लेकर भी मकान मालिक और किराएदा की भूमिका तय की गई है.

ये भी पढ़ें:
दिल्ली में इस बार समय से पहले पहुंचेगा मानसून, 5 दिनों में देश के इन इलाकों में भी होगी भारी बारिश!

India-China Rift: बेहद खतरनाक है भारत को चीन से जोड़ने वाला ये रास्ता, परेशान होते हैं जवान!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज