लाइव टीवी

सीएम कमलनाथ ने कहा स्वास्थ्य के क्षेत्र में नई क्रांति की ज़रूरत, शिक्षा पर उठाए सवाल

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 1, 2019, 4:27 PM IST
सीएम कमलनाथ ने कहा स्वास्थ्य के क्षेत्र में नई क्रांति की ज़रूरत, शिक्षा पर उठाए सवाल
सीएम कमलनाथ ने कहा कि आज विकास की चुनौतियां बदल गई हैं

मध्य प्रदेश के स्थापना दिवस पर राजधानी भोपाल (Bhopal) के वल्लभ भवन पार्क में सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) ने कहा कि 10 साल बाद हमे जो मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) चाहिए उसके लिए आज से ही काम शुरू करना पड़ेगा. उन्होंने शिक्षा (Education) और स्वास्थ्य (Health) के क्षेत्र में काम करने पर ज़ोर दिया

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश स्थापना दिवस के दिन राजधानी भोपाल (Bhopal) के वल्लभ भवन पार्क में वंदेमातरम (Vandematram) का गायन किया गया. वंदेमातरम गायन के इस मौके पर सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) खुद वल्लभ भवन पार्क पहुंचे. सीएम के अलावा मुख्य सचिव एसआर मोहंती (SR Mohanti) और डीजीपी वी के सिंह (DGP VK Singh) समेत वल्लभ भवन के तमाम कर्मचारी इस दौरान मौजूद रहे. वंदेमातरम के गायन से पहले पुलिस बैंड ने अपनी प्रस्तुति दी और बाद में सीएम कमलनाथ ने सभी को एमपी के विकास की शपथ दिलाई, इसके बाद वंदेमातरम का गायन किया गया. कार्यक्रम में मौजूद अधिकारी कर्मचारियों को संबोधित करते हुए सीएम कमलनाथ ने कहा कि आज के वक्त में विकास की चुनौतियां बदल गई हैं और इन चुनौतियों के लिए हमें अपनी सोच में भी बदलाव लाना होगा. सीएम ने इस मौके पर साल भर बेहतर काम करने वाले कर्मचारी अधिकारियों को सम्मानित भी किया.

शिक्षा के क्षेत्र में भी काफी काम की जरूरत है
सीएम ने सभी को एमपी के स्थापना दिवस की शुभकामनाएं दी. उन्होंने कहा कि 64 साल पहले कैसा एमपी था? आजादी के बाद एमपी के सामने भी गठन के बाद की चुनौतियां थीं, एमपी हर किसी का है हर व्यक्ति का है. हमें अपनी सोच में अंतर लाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि 20 साल पहले उत्पादन की कमी की चुनौती थी आज बढ़ते उत्पादन की चुनौती है. 70 फीसदी आबादी आज कृषि क्षेत्र से जुड़ी है. उन्होंने कहा कि आज नई पीढ़ी की सोच में अंतर है. 20 साल पहले हम आज की चुनौतियों के बारे में नहीं सोचते थे, लेकिन आज सोचना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में भी काफी काम की जरूरत है. उन्होंने सवाल उठाया कि क्या हमारी शिक्षा स्तरीय है? हमें इस बारे में सोचना होगा.

सीएम कमलनाथ ने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में नई क्रांति लाने की जरूरत है. 10 साल बाद आज ही के दिन हम कैसा एमपी चाहते हैं इसका संकल्प आज ही लेना होगा. हर व्यक्ति को एमपी के बेहतर भविष्य का संकल्प लेना होगा. उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर ऐसा एमपी बनाए जिसकी पहचान पूरे देश में हो.

News - सीएम कमलनाथ ने साल भर बेहतर काम करने वाले कर्मचारी अधिकारियों को सम्मानित किया.
सीएम कमलनाथ ने साल भर बेहतर काम करने वाले कर्मचारी अधिकारियों को सम्मानित किया.


इन अफसरों-कर्मचारियों का हुआ सम्मान
>> 2015-16 और 2016-17 के लिए चयनित अधिकारियों और कर्मचारियों को सुशीलचंद्र वर्मा पुरस्कार से सम्मानित किया गया
Loading...

>> वर्ष 2015-16 के लिए प्रथम श्रेणी में उप सचिव ऊषा परमार और केके कातिया अपर सचिव सामान्य प्रशासन विभाग को पुरस्कार
>> द्वितीय श्रेणी में जीएडी के अनुभाग अधिकारी सलीम खान, लता दीवान, मधुबाला श्रीवास्तव और निज सचिव रत्ना लच्छानी को पुरस्कार
>> तृतीय श्रेणी में सहायक ग्रेड-1 हरि भोजवानी व कन्हैयालाल अतुलकर और सहायक ग्रेड-2 रामसिया को पुरस्कार
चतुर्थ श्रेणी में रमेश सिंह और रामबाई यादव को पुरस्कार
>> वर्ष 2016-17 के लिए प्रथम श्रेणी में जीएडी के तत्कालीन उप सचिव संजय कुमार, अजीजा सरशार जफर, मुख्य सचिव कार्यालय के तत्कालीन अवर सचिव प्रदीप जैन सम्मानित किए गए
>> द्वितीय श्रेणी में पैकरण सिंह, यशवंत कुमार ढोणे, ओपी मेहरा, तृतीय श्रेणी में चंद्रपाल बाथम, राजेश चौधरी, प्रतिभा डोलस का सम्मान किय गया.
>> चतुर्थ श्रेणी में मुकेश, लक्ष्मण दास बैरागी और अमृतलाल पटेल को मुख्यमंत्री ने पुरस्कृत किया

ये भी पढ़ें -
हनी ट्रैप कांड: इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की जांच में 14 रसूखदारों की पहचान, SIT ने शुरू की पूछताछ
वित्त मंत्री तरूण भनोत का आरोप- केंद्र सरकार ने बाढ़ राहत का एक रुपया भी नहीं दिया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 4:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...