होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /एमपी में 7 साल में 229 साम्प्रदायिक दंगे : क्या इनमें था पीएफआई का हाथ, नये सिरे से जांच

एमपी में 7 साल में 229 साम्प्रदायिक दंगे : क्या इनमें था पीएफआई का हाथ, नये सिरे से जांच

Bhopal Big News. मध्य प्रदेश में बीते 7 साल में 229 दंगे हुए. इसके अलावा हाल ही में खरगोन दंगे में भी पीएफआई का नाम सामने आया था.

Bhopal Big News. मध्य प्रदेश में बीते 7 साल में 229 दंगे हुए. इसके अलावा हाल ही में खरगोन दंगे में भी पीएफआई का नाम सामने आया था.

Shocking : मध्य प्रदेश में बीते 7 साल में 229 दंगे हुए. इसके अलावा हाल ही में खरगोन दंगे में भी पीएफआई का नाम सामने आया ...अधिक पढ़ें

भोपाल. मध्यप्रदेश में पीएफआई को लेकर एक और बड़ा खुलासा हुआ है. पता चला है मध्यप्रदेश में पिछले कुछ समय में हुए दंगों में पीएफआई का हाथ था. इन दंगों की अब नए सिरे से जांच की जा रही है. पीएफआई के दंगे से जुड़े तार पर बारीकी से पड़ताल की जा रही है.

एनआईए के देशभर में पड़े छापों के बाद एटीएस ने उसके साथ मिलकर इंदौर, उज्जैन से पीएफआई के 4 नेताओं को गिरफ्तार किया था. यह सभी आरोपी 30 सितंबर तक पुलिस रिमांड पर हैं. एटीएस ने इन पर एफ आई आर भी दर्ज की है. इनसे लगातार पूछताछ की जा रही है. पूछताछ में लगातार कई बड़े और चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं. इनसे मिली जानकारी के आधार पर ही आज फिर पूरे प्रदेश में एटीएस ने छापा मारा और 21 और संदिग्धों को पकड़ा.

दंगों की नये सिरे से जांच
मध्य प्रदेश में बीते 7 साल में 229 दंगे हुए. इसके अलावा हाल ही में खरगोन दंगे में भी पीएफआई का नाम सामने आया था. लेकिन अब गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में कई महत्वपूर्ण इनपुट मिले हैं. सूत्रों ने बताया सिर्फ खरगोन ही नहीं बल्कि पिछले 7 साल में जितने भी दंगे हुए हैं उनमें पीएफआई की भूमिका को लेकर नए सिरे से जांच शुरू कर दी गई है. एटीएस पीएफआई के कनेक्शन की बारीकी से जांच कर रही है. जांच एजेंसियों को दंगों में PFI का हाथ होने का शक है.

7 साल में 229 दंगे 
मध्य प्रदेश में बीते 7 साल में हुए 229 दंगों में कई देश विरोधी गतिविधियां सामने आई थीं. साल 2015 में दंगे के 62 मामले दर्ज किए गए. इनमें 179 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई, जबकि 135 आरोपियों को सजा भी मिली. 2016 में 59 मामले दर्ज हुए. इनमें 177 आरोपी गिरफ्तार हुए, जबकि 109 आरोपियों को सजा मिली. साल 2017 में 39 मामले दर्ज हुए. इनमें 125 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई. जबकि 75 को सजा हुई. 2018 में 24 दंगों में 79 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई. इनमें से 31 को सजा सुनाई गयी. 2019 में 15 मामलों में 52 लोग गिरफ्तार किए गए इनमें से 21 आरोपियों को सजा हुई. साल 2020 में 20 मामले दर्ज हुए. इनमें 70 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई. इनमें से 34 को सजा सुनाई गयी. साल 2021 में 9 मामले दर्ज हुए. इनमें 26 आरोपी गिरफ्तार किए गए, जबकि18 आरोपियों को सजा हुई. इस साल 2022 में फरवरी तक एक मामला दर्ज हुआ. इनमें दो आरोपी गिरफ्तार हुए और दोनों को सजा हुई.

Tags: Islamic Terrorism, Madhya pradesh latest news, PFI

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें