लाइव टीवी

MP के इस अफसर की PM मोदी से गुज़ारिश-NRC के ज़रिए भ्रष्ट अफसरों को देश से निकालें...

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 16, 2020, 11:39 AM IST
MP के इस अफसर की PM मोदी से गुज़ारिश-NRC के ज़रिए भ्रष्ट अफसरों को देश से निकालें...
अफसर नियाज खान ने NRC पर PM मोदी से अपील की

राज्य प्रशासनिक सेवा (State administrative service) के अधिकारी नियाज अहमद खान (niyaz ahmed khan) पहले कई बार सुर्खियों में रह चुके हैं.खान सरनेम को लेकर सोशल मीडिया (social media) पर लिखा था कि इस सरनेम की वजह से बहुत सफर करना पड़ा है

  • Share this:
भोपाल. सुर्खियों में रहने वाले मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) के एक चर्चित अफसर ने NRC को लेकर पीएम नरेन्द्र मोदी (pm narendra modi) से एक मांग कर दी है. ये अफसर नियाज़ अहमद खान (niyaz ahmed khan) हैं. उन्होंने पीएम से मांग की है कि वो NRC के ज़रिए भ्रष्ट अफसरों को देश से बाहर करें. ये वही नियाज़ खान हैं जिन्होंने अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम (Underworld don Abu Salem) और उसकी प्रेमिका मोनिका बेदी (and Monika Bedi) पर किताब लिखने की इजाज़त सरकार से मांगी थी

सीएए-एनआरसी (CAA NRC) को लेकर जहां देश भर में माहौल गर्म है. विरोध और समर्थन में प्रदर्शन और बयान हो रहे हैं.इसी के बीच मध्य प्रदेश में अब आला अफसर भी अपनी राय देने लगे हैं.मंडला कलेक्टर के बाद अब भोपाल में मंत्रालय में पदस्थ राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी नियाज़ खान ने ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि वो सीएए-एनआऱसी के जरिए भ्रष्ट अधिकारियों को देश से बाहर करें.एनआऱसी में उन लोगों का विरोध होना चाहिए जो सरकारी धन की चोरी करते हैं.अधिकारी ने कहा भारतीय नागरिक होने के नाते आपसे निवेदन कर रहा हूं कि इस बात पर विचार करें.

खान का ट्वीट
मंत्रालय में पदस्थ अधिकारी नियाज अहमद खान ने सीएए-एनआरसी के जरिए भ्रट अधिकारियों पर टारगेट किया.नियाज अहमद खाान ने एक-एक कर चार ट्वीट पोस्ट किए. इसमें उन्होंने लिखा, एनआरसी उन लोगों के खिलाफ हो जो सरकारी धन की चोरी करते हैं.सरकार का एक-एक पैसा उन लोगों के लिए है जो रोटी को तरस रहे हैं. इनकी गरीबी के लिए सरकार में शामिल भ्रष्ट लोग जिम्मेदार हैं.जो भ्रष्ट हैं उन्हें इस देश का नागरिक कहलाने का अधिकार नहीं है.ऐसे भ्रष्ट लोग जो अपने आपको महान देशभक्त दिखाते हैं.देश को साफ करने के लिए उन्हें एनआरसी के ज़रिए बाहर फेंक देना चाहिए.

भ्रष्ट अफसरों को निकालो
नियाज खाने अगले ट्वीट में लिखा सच्चे मन से इसे लागू किया तो बहुत से सरकारी पद खाली हो जाएंगे.उन पदों पर ईमानदार लोगों को भर्ती कर देना चाहिए.लेखक और भारतीय नागरिक होने के नाते पीएम से निवेदन करता हूं कि इस बात पर वे विचार करें.ये वक्त की जरूरत है कि केवल ईमानदार लोगों को ही भारत का नागरिक होना चाहिए.

विवाद में रह चुके हैं नियाज़ अहमद खानराज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी नियाज अहमद खान पहले कई बार सुर्खियों में रह चुके हैं.खान सरनेम को लेकर सोशल मीडिया पर लिखा था कि इस सरनेम की वजह से बहुत सफर करना पड़ा है.बहुत कुछ झेलना पड़ा है.बिना किसी शिकायत के कई बार प्रताड़ित किया जाता है.नौकरी में बिना किसी गलती के अब तक 17 साल में 9 जिलों में 19 कुर्सियों पर बैठना प़ड़ा है.भेदभाव का शिकार होना पड़ा.नियाज अहमद खान आईएएस अधिकारी पीएस विवेक अग्रवाल के खिलाफ चीफ चीफ सेकेट्री से शिकायत कर सुर्खियों में आए थे. वो उस समय भी सुर्खियों मे आए थे जब उन्होंने अबू सलेम और मोनिका बेदी की प्रेम कहानी लिखने के लिए सरकार से इजाज़त मांगी थी.

ये भी पढ़ें-मध्य प्रदेश विधानसभा का आज से दो दिवसीय विशेष सत्र

MP PSC में विवादित सवाल : अधिकारियों के खिलाफ एट्रोसिटी एक्ट के तहत FIR दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 11:36 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर