कमलनाथ सरकार का दावा, क्रॉस वोटिंग करने वाले BJP MLA की नहीं बढ़ाई गई सुरक्षा

विधानसभा में क्रॉस वोटिंग करने वाले भाजपा के दो विधायकों की सुरक्षा बढ़ाने संबंधी खबरों को कमलनाथ सरकार ने गलत बताया है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: July 25, 2019, 5:58 PM IST
कमलनाथ सरकार का दावा, क्रॉस वोटिंग करने वाले BJP MLA की नहीं बढ़ाई गई सुरक्षा
नारायण त्रिपाठी, शरद कोल (फाइल फोटो)
News18 Madhya Pradesh
Updated: July 25, 2019, 5:58 PM IST
मध्यप्रदेश विधानसभा में क्रॉस वोटिंग करने वाले भाजपा के दो विधायकों की सुरक्षा बढ़ाने संबंधी खबरों को कमलनाथ सरकार ने गलत बताया है. मीडिया में आई खबरों में कहा गया था कि बीजेपी के जिन दो विधायकों ने विधानसभा में एक विधेयक पर मत विभाजन के दौरान अपना समर्थन मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस नीत सरकार को दिया था, उनकी सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

मीडिया में आयी खबरों में कहा गया है कि बुधवार शाम को विधानसभा में दंड विधि (मध्य प्रदेश संशोधन) विधेयक 2019 पर मत विभाजन के दौरान दूसरे दल के लिए मतदान (क्रॉस वोटिंग) करने वाले भाजपा के दो विधायकों नारायण त्रिपाठी (मैहर) और शरद कोल (ब्यौहारी) की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

नहीं दी गई अतिरिक्त सुरक्षा

मामले के बारे में पूछे जाने पर मध्यप्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने बृहस्पतिवार को बताया कि इन दोनों विधायकों के लिए कोई अतिरिक्त बल की तैनाती नहीं की गई है. उन्हें वही सामान्य सुरक्षा मुहैया कराई गई है, जो हर विधायक को दी जाती है.

पुलिस को नहीं मिला है कोई निर्देश

दूसरी ओर भोपाल के पुलिस उप महानिरीक्षक इरशाद वली ने कहा कि विधायकों की सुरक्षा बढ़ाये जाने का निर्णय पुलिस मुख्यालय लेती है और भोपाल पुलिस को अब तक लिखित में ऐसा कोई निर्देश नहीं मिला है.

ये भी पढ़ें- विनय सहस्त्रबुद्धे के बिगड़े बोल, कहा- घोड़े के बाजार के दलाल हैं कांग्रेसी नेता
Loading...

ये भी पढ़ें- कम्प्यूटर बाबा का दावा- BJP के 4 और विधायक मेरे संपर्क में
First published: July 25, 2019, 5:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...