सरकार ने फिर कहा, MP में नहीं है बिजली की कमी, शिवराज सरकार ने नहीं किया मेंटेनेंस

राजधानी भोपाल के लिए नये सिरे से डिस्ट्रीब्यूशन प्लान तैयार किया जा रहा है. . इसलिए यहां बिजली आपूर्ति में दिक्कत नहीं होगी

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 14, 2019, 7:32 PM IST
सरकार ने फिर कहा, MP में नहीं है बिजली की कमी, शिवराज सरकार ने नहीं किया मेंटेनेंस
एमपी में बिजली संकट नहीं
Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 14, 2019, 7:32 PM IST
बिजली कटौती की अफवाह से घिरी कमलनाथ सरकार डैमेज कंट्रोल में जुटी है. सीएम और मंत्री ने खुद मोर्चा संभाल लिया है. अफसरों को सख़्त हिदायत है कि काम में लापरवाही ना बरतें. लाइन का मेंटेनेंस करने के लिए बिना बताए कहीं भी बिजली सप्लाई बंद ना करें. सरकार का दावा है कि किसानों को 10 घंटे बिजली दी जा रही है. प्रदेश में सरप्लस बिजली है. शिवराज सरकार में लाइनों का मेंटेनेंस ना होने के कारण ट्रिपिंग हो रही है.
पुलिस रखेगी निगरानी- प्रियव्रत सिंह ने बताया कि पिछले 6 महीने में पूरे प्रदेश में 60 हजार ट्रांसफॉर्मर बदले गए हैं. अब पुलिस को निर्देश दिया गया है कि वो अपने इलाके में ट्रांसफार्मर पर नज़र रखें. किसानों को 10 घंटे बिजली दी जा रही है.DTR पर 10 प्रतिशत तक बिजली दी जाएगी.
हाईलेवल मीटिंग-मध्य प्रदेश में अचानक हर तरफ से बिजली गुल होने की ख़बरों और फिर उस पर लगे आरोपों से कमलनाथ सरकार सतर्क हो गयी है. भोपाल में ऊर्जा विभाग के अफसरों की हाईलेवल मीटिंग हुई. उसमें ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह अधिकारियों से फीडबैक लिया. अफसरों से पूछा गया कि इस कथित संकट से कैसे निपटा जा सकता है. उनसे कहा गया कि जनता को साफ बताएं कि प्रदेश में बिजली की कमी नहीं है और कहीं भी अघोषित कटौती नहीं की जा रही है. बल्कि शिवराज सरकार में बरसों से लाइन की मरम्मत नहीं की गयी इसलिए बिजली सप्लाई का लोड बढ़ते ही ट्रिपिंग हो रही है. जिससे सप्लाई बाधित हो जाती है.


सरप्लस बिजली- मंत्री प्रियव्रत सिंह ने कहा अगर 6महीनों का रिकॉर्ड देखा जाए तो मध्य प्रदेश में ज्यादा बिजली सप्लाई की गयी. जून में 30 फीसदी ज्यादा बिजली सप्लाई की गयी, जो पिछले साल के मुकाबले ज़्यादा थी. 11जून को 38 और 10जून को 46%ज्यादा बिजली सप्लाई की गयी.

शिवराज सरकार में मेंटेनेंस नहीं - मंत्री ने कहा प्रदेश में सरप्लस बिजली है. कहीं कोई कमी नहीं है. शिवराज सरकार के दौरान लाइन का मेंटेनेंस नहीं हुआ. अफसरों से कहा गया कि वो सारी जानकारी एप पर डाल दें.
अफसरों को हिदायत- ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने कहा अफसरों को सख़्त हिदायत है कि वो लापरवाही ना बरतें. उन्होंने बताया कि एलटी लाइन और डीडी आर लाइन का शिवराज सरकार के दौरान काफी समय से रखरखाव नहीं हुआ है. अफसरों को समय पर लाइन का मेंटेनेंस करने के लिए कहा गया है. उनसे कहा गया है कि जिस भी इलाके में मरम्मत काम किया जाए वहां बिना प्लान बनाए शट डाउन ना किया जाए.
ट्रिपिंग का रिकॉर्ड- अफसरों से कहा गया है कि जिस भी इलाके में ट्रिपिंग हो रही है,उसका पूरा रिकॉर्ड रखें. जनता तक सही जानकारी पहुंचाएं ताकि भ्रम या अफवाह ना फैले. इसकी जानकारी एप पर भी डाली जाए.एमपी में कहीं भी अघोषित बिजली कटौती नहीं की जा रही है.
Loading...

राजधानी के लिए प्लान - राजधानी भोपाल के लिए नये सिरे से डिस्ट्रीब्यूशन प्लान तैयार किया जा रहा है. . इसलिए यहां बिजली आपूर्ति में दिक्कत नहीं होगी. शरारती तत्व लाइन में फॉल्ट डालकर बाधा डाल रहे हैं.

ये भी पढ़ें-MP में गौशाला भी स्मार्ट होंगी, गोबर-गौमूत्र एक्सपोर्ट

तबादलों के सीजन में हर मंत्री का बंगला फुल

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी


Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...