अब देसी ‘मूषक’ देगा विदेशी 'चिड़िया' को टक्कर

अंतरराष्ट्रीय सोशल मीडिया नेटवर्किग साइट टि्वटर के भारतीय विकल्प के तौर पर सोशल मीडिया नेटवर्किग साइट ‘मूषक’ पेश की गयी है.


Updated: September 13, 2017, 7:11 PM IST
अब देसी ‘मूषक’ देगा विदेशी 'चिड़िया' को टक्कर
मूषक.

Updated: September 13, 2017, 7:11 PM IST
अंतरराष्ट्रीय सोशल मीडिया नेटवर्किग साइट टि्वटर के भारतीय विकल्प के तौर पर हिन्दी और अन्य भारतीय भाषाओं में काम करने वाली सोशल मीडिया नेटवर्किग साइट ‘मूषक’ पेश की गयी है. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कल इसका औपचारिक तौर पर लोकर्पण करेंगे.

मूषक के संस्थापक अनुराग गौड़ ने आज यहां संवाददाताओं को बताया, ‘‘मूषक स्वभाषा में तैयार किया गया देश का पहला स्वदेशी सोशल नेटवर्क है. मूषक एंड्राइड एप और वेब साइट दोनों ही रूपों में इंटरनेट पर मौजूद है. यह सम्पूर्ण रूप से भारतीय और भारतीय युवाओं द्वारा तैयार किया गया यह पहला स्वदेशी नेटवर्क है.’’ उन्होंने बताया कि फिलहाल मूषक हिन्दी के अलावा मराठी और गुजराती में उपलब्ध है और क्रमश: भारत की सभी भाषाओं में लाया जायेगा. अंग्रेजी में यह उपलब्ध नहीं है.

गौड़ ने कहा कि देश में अभी 2.5 लाख लोग मूषक का उपयोग कर रहे हैं तथा रोज हजारों लोग इससे जुड़ रहे हैं. इनमें प्रसिद्ध योगगुरू बाबा रामदेव, आचार्य बालकृष्ण, गायक अभिजीत भट्टाचार्य, वरिष्ठ पत्रकार प्रताप सोमवंशी इसका नियमित तौर पर उपयोग कर रहे हैं.

उन्होंने टि्वटर की तुलना में मूषक को अधिक सक्षम होने के दावा करते हुए कहा कि मूषक में अक्षर सीमा 500 है, जो संक्षिप्त में अपनी बात रखने के लिये पर्याप्त है. इसके साथ ही इसमें आप छाया चित्र, चलचित्र, ध्वनि फाइल तो डाल ही सकते हैं. साथ ही डूडल बनाने, छायाचित्र के ऊपर लिखने और मेम बनाने की सुविधा भी इसमें है.

ये भी पढ़ें-
नेता ने ट्विटर  पर लाइक किया PORN! लोग ले रहे मजे
राहुल बोले- लोकसभा में होती है 546 सीट, TWITTER यूजर्स ने उड़ाया मजाक


 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर