Corona की मार: अब तो अपनों की अंतिम विदाई भी हुई महंगी, जानिए कितने रुपए में होगा अंतिम संस्कार

मप्र की राजधानी में कोरोना संक्रमण ने किसी चीज को नहीं छोड़ा. (सांकेतिक तस्वीर)

मप्र की राजधानी में कोरोना संक्रमण ने किसी चीज को नहीं छोड़ा. (सांकेतिक तस्वीर)

Corona की मार: मध्य प्रदेश की राजधानी में अंतिम संस्कार पर भी वायरस की मार पड़ी है. यहां अब अंतिम विदाई के पैसे ज्यादा देने होंगे. लड़की और कर्मचारियों की कमी से ये दाम बढ़ गए.

  • Last Updated: May 10, 2021, 9:42 PM IST
  • Share this:

भोपाल. राजधानी भोपाल में कोरोना की मार अब शवों के अंतिम संस्कार पर भी पड़ने लगी है. अपनों को आखरी विदाई देना लोगों के लिए महंगा होता जा रहा है. शहर के विश्राम घाटों पर हर चीज का दाम फिक्स कर दिया गया है.

जानकारी के अनुसार शमशान घाटों पर अधिक संख्‍या में शव पहुंचने के चलते अंतिम संस्‍कार के लिए लकड़ी और कर्मचारी कम पड़ रहे हैं. इस वहज से अंतिम संस्कार की कीमत बढ़ा दी गई है. पहले विश्राम घाट पर एक शव के अंतिम संस्‍कार के लिए 2600 रुपए लिए जाते थे, अब उसे बढ़ाकर 3500 रुपये कर दिया गया है.

गफलत से बचने दाम किए तय

बता दें, सबसे ज्यादा कोरोना प्रोटोकॉल के तहत शवों का अंतिम संस्कार भदभदा विश्राम घाट में किया जा रहा है. इसके बाद सुभाष विश्राम घाट में अंतिम संस्कार किए जाते हैं. भदभदा विश्राम घाट समिति ने किसी तरह की गफलत न हो इसके लिए अंतिम संस्‍कार के दाम तय कर दिए हैं. यहां सामान्‍य देह के अंतिम संस्‍कार और कोविड प्रोटोकॉल वाली देह के लिए अलग-अलग रेट हैं. विश्राम घाट समिति ने कोरोना प्रोटोकॉल से होने वाले शवों के अंतिम संस्कार के लिए 3500 रुपए शुल्‍क रखा है. जबकि, सामान्‍य मृतक देह के अंतिम संस्‍कार का गोकाष्‍ठ शुल्‍क 3100 रुपए निर्धारित किया गया है. विद्युत शवदाह गृह में दाह संस्‍कार का शुल्‍क 1700 रुपए और लकड़ी की कीमत 1000 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित की गई है.

Youtube Video

लकड़ी के लिए करना पड़ रहा संघर्ष

भदभदा विश्राम घाट समिति के सचिव मम्‍तेश शर्मा  ने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों में भदभदा विश्राम घाट प्रबंधन को लकड़ी की व्‍यवस्‍था करने में काफी संघर्ष करना पड़ रहा है. वन विभाग और प्राइवेट वेंडरों के सहयोग से किसी तरह इस व्‍यवस्‍था को सुचारू रूप से चलाया जा रहा है. कई संगठनों ने लकड़ी दान भी की. लोगों की सुविधा के लिए विश्राम घाट में जगह-जगह इस निर्धारित शुल्‍क के पोस्‍टर-बैनर लगवा दिए गए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज