ज़िला जे पी अस्पताल का हाल : कोरोना जांच के लिए घंटों टेंट में करना पड़ता है इंतज़ार

जे पी ज़िला अस्पताल में संदिग्ध मरीज़ों की लंबी कतार देखी जा सकती है.

जे पी ज़िला अस्पताल में संदिग्ध मरीज़ों की लंबी कतार देखी जा सकती है.

Bhopal.लोगों का कहना है 3 घंटे लाइन में लगने के बाद भी जांच नहीं हो सकी. बुजुर्ग लोग बाहर परेशान होते रहे. साथ ही दूसरी व्यवस्था ही नहीं होने के कारण लोगों की तबियत खराब हो रही है.

  • Share this:
भोपाल. सरकार दावा कर रही है कि कोरोना जांच में तेजी लाई गई है. सभी मरीजों की जांच तय समय पर की जा रही है. लेकिन इन तमाम दावों की पोल भोपाल के ज़िला जेपी अस्पताल की उन तस्वीरों ने खोल कर रख दी. जिनमें लोग कोरोना जांच के लिए घंटों परेशान होते रहे और सिस्टम को कोसने के सिवा उनके पास कुछ नहीं था.

3 घंटे तक नहीं हुई जांच...

जेपी अस्पताल में जांच के लिए लोग परेशान होते रहे. 3 घंटे बाद भी कोरोना की जांच नहीं हो सकी. लोगों ने अव्यवस्था का वीडियो सोशल मीडिया पर  वायरल भी किया. जांच केंद्र के अंदर स्टाफ से पूछताछ की तो पता चला आज स्टाफ कम है. जांच कराने आए लोगों ने स्टाफ पर अपना गुस्सा भी निकाला.

न पानी, न बैठने की व्यवस्था...
जेपी अस्पताल में कोरोना जांच जरूर की जा रही है. लेकिन लोग इस बात को लेकर परेशान है कि उन्हें घंटों इंतजार करना पड़ता है. लोगों के लिए ना तो वहां पर पीने के पानी की व्यवस्था है और ना ही बैठने की व्यवस्था. सिर्फ एक टेंट लगा दिया गया है. अब भीषण गर्मी पड़ने लगी है, ऐसे में कई मरीज चक्कर खाकर रोजाना गिर जाते हैं और उनकी तबियत ही बिगड़ जाती है.



स्टाफ की कमी...



जिन लोगों ने जेपी अस्पताल की अव्यवस्था पर वीडियो बनाया. उन्होंने कहा जब जांच करने वाले कमरे में मोबाइल से वीडियो बनाया तो डॉक्टर ने स्टाफ नहीं होने का बहाना बताया. जबकि पूरा स्टाफ उसी कमरे में था. लोगों का कहना है 3 घंटे लाइन में लगने के बाद भी जांच नहीं हो सकी. बुजुर्ग लोग बाहर परेशान होते रहे. साथ ही दूसरी व्यवस्था ही नहीं होने के कारण लोगों की तबियत खराब हो रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज