होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /राजधानी भोपाल में मिल रहा है पाकिस्तान का नमक, जानें इससे जुड़ी खास बातें

राजधानी भोपाल में मिल रहा है पाकिस्तान का नमक, जानें इससे जुड़ी खास बातें

पाकिस्तान बॉर्डर से गाया गया है पत्थर के आकार का नमक

पाकिस्तान बॉर्डर से गाया गया है पत्थर के आकार का नमक

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मिल रहा है पाकिस्तान का नमक. यह पाकिस्तानी नमक देखने में एक खूबसूरत पत्थर के आकर के जै ...अधिक पढ़ें

    आदित्य तिवारी/भोपाल. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मिल रहा है पाकिस्तान का नमक . यह पाकिस्तानी नमक देखने में एक खूबसूरत पत्थर के आकर के जैसा है. कहा जाता है कि दुनिया में सबसे अच्छी गुणवक्ता का नमक पाकिस्तान की खदान से निकलता है. आपको बताते चले कि इस नमक का सबसे ज्यादा उत्पादन खेवडा (सिंध) नामक खदान में होता है, और यहीं से इसे पूरी दुनिया के बाजारों में पहुंचाया जाता है .

    खेवड़ा नमक खदान (या मेयो साल्ट माइन ) पिंड दादन खान के उत्तर में खेवड़ा में है . इसमे झेलम जिला , पंजाब क्षेत्र , पाकिस्तान का एक प्रशासनिक उपखंड है . खदान साल्ट रेंज , पोतोहर पठार में मौजूद है, जो कि भारत-गंगा के मैदान से निकलती है . खेवड़ा नमक खदान को लॉर्ड मेयो के सम्मान में मेयो नमक खदान के रूप में भी जाना जाता है , लार्ड मेयो ने इस खदान ख्याल भारत के वायसराय के तौर पर रखा. खेवड़ा में नमक के भंडार की खोज तब हुई जब सम्राट सिकंदर ने अपने भारतीय अभियान के दौरान झेलम और मियांवाली क्षेत्र को पार किया . खदान की खोज, हालांकि, न तो सिकंदर द्वारा की गई थी और न ही उसके सहयोगियों द्वारा, बल्कि उसकी सेना के घोड़ों द्वारा की गई थी, जब वे पत्थरों को चाटते पाए गए थे. उसकी सेना के बीमार घोड़े भी सेंधा नमक के पत्थरों को चाटकर ठीक हो गए.

    मुगल युग से होता है नमक का व्यापार
    मुगल युग के दौरान नमक का व्यापार विभिन्न बाजारों में किया जाता था, जो मध्य एशिया से दूर था. मुगल साम्राज्य के पतन पर, खदान पर सिखों ने कब्जा कर लिया था. सिख कमांडर-इन-चीफ हरि सिंह नलवा ने जम्मू के राजा गुलाब सिंह के साथ साल्ट रेंज के प्रबंधन को साझा किया . जिसमे उन्होंने पूर्व ने वारचा खदान को नियंत्रित किया, जबकि बाद में खेवड़ा को नियंत्रित किया. सिख शासन के दौरान नमक खाने के साथ साथ राजस्व के स्रोत के रूप में उपयोग किया जाता था.

    काले नमक से होते है ये फायदे
    – सीने की जलन से राहत
    – मधुमेह नियंत्रण में उपयोगी
    – वजन स्थिर रखने में फायदेमंद
    – कब्ज और पेट फूलने से राहत
    – रक्तचाप में उपयोगी
    – मांसपेशियों के ऐंठन से राहत –
    – पाचन तंत्र को मजबूत करने में उपयोगी

    सेंधा नमक से भी होते है ये फायदे
    – सेंधा नमक के फायदे कम करें मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या से निजाद
    – गले में खराश के इलाज के लिए सेंधा नमक उपयोगी
    – मसूड़ों की मजबूती के लिए
    – मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए.
    – वजन कम करने के लिए
    – सिरदर्द और माइग्रेन में भी सेंधा नामक देता है राहत
    .

    Tags: Bhopal news, Madhya pradesh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें