ऑक्सीजन सप्लाई करते करते टूट गई खुद की सांसों की डोर, परिवार अब नहीं होने देगा ऑक्सीजन की कमी

स्व. परमजीत के परिवार ने समरधा श्मशान घाट पर पेड़ लगाए.

स्व. परमजीत के परिवार ने समरधा श्मशान घाट पर पेड़ लगाए.

Bhopal. परमजीत सिंह के परिवार ने पेड़ लगाने का संकल्प लिया ताकि पर्यावरण में ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी न हो. उन्होंने परमजीत सिंह की याद में होशंगाबाद रोड स्थित समरधा के शमशान घाट में वृक्षारोपण करने का फैसला किया.

  • Share this:

भोपाल. राजधानी भोपाल (Bhopal) में एक परिवार ने अपने घर के मुखिया की कोरोना से मौत पर अनोखी श्रद्धांजलि देने का फ़ैसला किया है. ये परिवार ऑक्सीजन (Oxygen) टैंकर मालिक परमजीत का है जिनकी खुद की सांसों की डोर दूसरों को ऑक्सीजन पहुंचाते पहुंचाते टूट गयी.

परमजीत ने ऑक्सीजन सप्लाई के लिए आपदा के वक्त लगातार काम किया लेकिन खुद कोरोना की चपेट में आ गए. बाद में इलाज के दौरान उनका निधन हो गया. परिवार वालों ने उनकी याद में श्मशान घाट को हरा भरा करने का संकल्प किया है ताकि यहां लगे पेड़ ऑक्सीजन दे सकें. आज स्वर्गीय परमजीत सिंह के परिवार ने समरधा शमशान घाट में जाकर वृक्षारोपण किया.

असली कोरोना योद्धा

अप्रैल महीने में जब कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर अपने चरम पर थी. अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के कारण सभी की सांसें फूल रही थीं. ऐसे कठिन हालात में कोरोना मरीज़ों को 24 घंटे ऑक्सीजन सप्लाई करने के लिए टैंकर मालिक स्वर्गीय परमजीत सिंह ने अपने बेटे अम्बु सिंह के साथ मोर्चा संभाला. वो इनॉक्स ऑक्सीजन कंपनी के मालिक थे. एक टैंकर परमजीत सिंह ने तो दूसरा टैंकर अम्बु सिंह ने खुद चलाया. टैंकर के पहिये थमने नही दिए. लगातार 20 दिन परमजीत और अम्बु टैंकर पर ही रहे. ऐसा पुण्य का काम कर उन्होंने न जाने कितने मरीज़ों को समय पर ऑक्सीजन सप्लाई कर उनकी जान बचा ली. लेकिन दूसरों की सेवा में लगे परमजीत जी खुद पता नहीं कब इस संक्रमण की चपेट में आ गए. और फिर बेटे अम्बु को भी कोरोना हो गया. 24 अप्रैल को परमजीत सिंह की भोपाल के एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान मृत्यु हो गयी.


परमजीत सिंह के परिवार ने पेड़ लगाने का संकल्प लिया ताकि पर्यावरण में ऑक्सीजन की कमी न हो. उन्होंने परमजीत सिंह की याद में होशंगाबाद रोड स्थित समरधा के शमशान घाट में वृक्षारोपण करने का फैसला किया. बुधवार को परिवार के सदस्यों ने श्मशान घाट में वृक्षारोपण किया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज