होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /मध्य प्रदेश में 5 महीने बाद आज से चलने लगेंगी बसें, कोरोना से बचाव का रखना होगा ध्यान

मध्य प्रदेश में 5 महीने बाद आज से चलने लगेंगी बसें, कोरोना से बचाव का रखना होगा ध्यान

mp में 20 अगस्त से यात्री बसों को पूरी क्षमता के साथ चलाने की इजाज़त है

mp में 20 अगस्त से यात्री बसों को पूरी क्षमता के साथ चलाने की इजाज़त है

बसें (bus) पहले की तरह पूरी यात्री क्षमता से चलने लगेंगी. लेकिन यात्रियों को मास्क (mask) पहनना होगा.

भोपाल.मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में यात्री बसें आज 20 अगस्त से फिर शुरू हो रही हैं. कोरोना (corona) संकट और लॉक डाउन (lockdown) के कारण 5 महीने से बसें बंद थीं. बसें शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आवश्यक दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं. साथ ही ये भी सख्त हिदायत है कि बस ऑपरेटर्समुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग से प्रदेश में कोरोना की स्थिति और व्यवस्था की समीक्षा की. बैठक में नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, चिकित्सा शिक्षा  मंत्री  विश्वास सारंग, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी शामिल हुए. बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी  विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान भी मौजूद थे.

सरकार ने दी अनुमति
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बैठक में अफसरों को यात्री बसें फिर से शुरू करने के लिए ज़रूरी दिशा निर्देश दिए. उन्होंने बैठक में कहा प्रदेश में 20 अगस्त से यात्री बसों को पूरी क्षमता के साथ चलाने की इजाज़त होगी. लेकिन मास्क पहनने सहित सभी सावधानियां बरतनी होंगी. इसका ध्यान बस ऑपरेटर्स को करना होगा.

तत्काल इलाज के लिए कलेक्टर को निर्देश
मुख्यमंत्री शिवराज ने यह निर्देश भी दिए हैं कि प्रदेश में जल्दी पहचान और तुरंत इलाज की रणनीति पर प्रभावी अमल किया जाए. सभी कलेक्टर्स अपने जिलों में पर्याप्त टेस्टिंग, इलाज आदि की अच्छी से अच्छी व्यवस्था करें. प्रभारी अधिकारी प्रभार के जिलों में निरंतर मॉनीटरिंग कर सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें.

इंदौर में चल रहा है सीरो सर्विलांस
बैठक में अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्म्द सुलेमान ने बताया कि इंदौर में कोरोना का सीरो सर्विलान्स चल रहा है, जो एक-दो दिन में पूरा हो जाएगा. इस सर्वे से यह पता चल जाएगा कि कितनी प्रतिशत जनसंख्या में कोरोना के एंटीबॉडीज डेवलप हो गए हैं. इसके बाद उज्जैन और भोपाल में सीरो सर्विलांस कराया जाएगा. जिलेवार समीक्षा में पाया गया कि इंदौर जिले में 179, भोपाल में 114, ग्वालियर में 97, जबलपुर में 91, सागर में 25, खरगौन में 24 कोरोना के नये पेशेंट मिले हैं. टीकमगढ़ जिले में सात दिन में पॉजिटिविटी दर 10.19 है. वहीं हरदा की 18 प्रतिशत रही. शहडोल में 20 और सिवनी में 15 नये प्रकरण आए हैं. मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिए कि इन जिलों पर विशेष ध्यान दिया जाए.

24 घंटे में टेस्टिंग की रिपोर्ट
शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा कि कुछ जिलों से कोरोना की टेस्टिंग रिपोर्ट लेट आने की सूचना आ रही है. इस संबंध में सभी कमिश्नर यह व्यवस्था करें कि सभी‍ जिलों में टेस्टिंग की रिपोर्ट 24 घंटे में आ जाए.उन्होंने कहा कुछ जिलों में टेस्टिंग कम है, इसलिए संबंधित कलेक्टर्स टेस्टिंग बढ़ाएं. जिलों के लिए जो प्रभारी अधिकारी नियुक्त किए गए हैं वो अपने प्रभार वाले जिलों में ज़्यादा से ज्यादा कोरोना मरीज़ों की  टेस्ट की व्यवस्था कराएं. वो अपने जिलों की पूरी चिंता करें, रोज समीक्षा करें और समय-समय पर वहां के दौरे करें.

Tags: Buses, CM Shivraj Singh Chouhan, Corona infected patient, Lockdown

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें