Corona Effect : पश्चिम मध्य रेल जोन के सभी स्टेशनों पर अब महंगी हुई विदाई

Corona इफ़ेक्ट-पश्चिम मध्य रेल जोन के सभी स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट महंगा हुआ
Corona इफ़ेक्ट-पश्चिम मध्य रेल जोन के सभी स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट महंगा हुआ

प्लेटफार्म में ज्यादा भीड़ रोकने के लिए पश्चिम-मध्य रेलवे ने पहले एक एडवाइजरी जारी की थी.उस एडवाइजरी का ज्यादा असर लोगों पर नहीं हुआ. इसलिए पश्चिम मध्य रेल जोन ने जबलपुर, भोपाल और राजस्थान के कोटा रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले सभी स्टेशनों के प्लेटफार्म टिकट महंगा कर दिया है.

  • Share this:
जबलपुर.पश्चिम मध्य रेल जोन के सभी रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों को छोड़ने और लाने के लिए अब उनके परिवार को ज्यादा पैसा चुकाने होंगे. रेल मंडल ने प्लेटफॉर्म टिकट महंगा कर दिया है. जो टिकट अब तक 10 रुपए में आता था वो अब 50 रुपए का कर दिया गया है. आदेश आज से लागू कर दिया गया है.

कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए रेलवे ने ये कदम उठाया है. ताकि टिकट महंगा होने के कारण कम लोग स्टेशन आएं और ज्यादा भीड़ इकट्ठी ना हो. इसके लिए तमाम तरह के प्रयास किए जा रहे हैं. रेलवे प्लेटफार्म पर और ट्रेनों में सबसे ज्यादा भीड़ होती है. इस भीड़ में संक्रमण बढ़ने का सबसे बड़ा खतरा होता है. प्लेटफार्म में ज्यादा भीड़ रोकने के लिए पश्चिम-मध्य रेलवे ने पहले एक एडवाइजरी जारी की थी.उस एडवाइजरी का ज्यादा असर लोगों पर नहीं हुआ. इसलिए पश्चिम मध्य रेल जोन ने जबलपुर, भोपाल और राजस्थान के कोटा रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले सभी स्टेशनों के प्लेटफार्म टिकट की दर 10 रुपए से बढ़ाकर 50 रुपए कर दी है. अब रेलवे स्टेशन पर आने के लिए 50 रुपये की प्लेटफार्म टिकट खरीदना होगी. जोन कार्यालय के इस निर्णय से आम लोगों की परेशानी बढ़ गई है.

जबलपुर, भोपाल ओर कोटा मंडल के स्टेशनो पर बढ़े रेट
50 रुपए की प्लेटफॉर्म टिकट खरीदना लोगों की जेब पर भारी पड़ रहा है. इसका असर सीधा प्लेटफॉर्म पर दिख रहा है. टिकट खरीदने वालों की संख्या बेहद कम हो गई है. और रिश्तेदार प्लेटफॉर्म के बाहर ही यात्री को छोड़कर वापस जा रहे हैं. पश्चिम मध्य रेल जोन की मुख्य जनसंपर्क अधिकारी प्रियंका दीक्षित ने बताया कि रेल यात्रियों के स्वास्थ्य की चिंता की जा रही है. प्लेटफॉर्म पर ज्यादा भीड़ ना बढ़े इसलिए टिकट महंगा किया जा रहा है. जोन कार्यालय का उद्देश्य राजस्व कमाना नहीं है बल्कि रेल यात्रियों की सेहत का ध्यान रखना है.
ये भी पढ़ें-



दिग्विजय बोले-हमने कभी नहीं सोचा था कि सिंधिया हमें dtich करेंगे....

MP में अब होंगे 55 ज़िले :कमलनाथ केबिनेट ने चाचौड़ा,नागदा, मैहर को दी मंज़ूरी

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज