Home /News /madhya-pradesh /

एमपी के आठ जिलों पर पीएम मोदी की सीधी नजर, उतारी मंत्रियों की फौज

एमपी के आठ जिलों पर पीएम मोदी की सीधी नजर, उतारी मंत्रियों की फौज

पीएम मोदी (फाइल फोटो)

पीएम मोदी (फाइल फोटो)

केंद्र सरकार ने मंत्रियों के साथ ही एमपी कैडर के दिल्ली में पदस्थ आईएएस अफसरों को भी जिम्मेंदारी सौंपी है.

    मध्य प्रदेश के पिछड़े आठ जिलों पर अब सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टीम नजर रखेगी. पीएम मोदी ने राज्य के पिछड़ों जिलों पर केंद्रीय मंत्री और अफसरों की टीम को जिम्मेंदारी सौंपी हैं. इसमें सुषमा स्वराज को विदिशा, नरेंद्र सिंह तोमर को गुना, थावरचंद गहलोत को राजगढ़, प्रकाश जावड़ेकर को बड़वानी-खंडवा, एमजे अकबर को सिंगरौली और वीरेन्द्र कुमार को दमोह-छतरपुर जिले का प्रभारी बनाया गया हैं.

    केंद्र सरकार ने मंत्रियों के साथ ही एमपी कैडर के दिल्ली में पदस्थ आईएएस अफसरों को भी जिम्मेंदारी सौंपी है. इसमें अनिल जैन को सिंगरोली, प्रवीण कृष्ण को बड़वानी, एसपीएस परिहार को खंडवा, अजय तिर्की को दमोह, शैलेन्द्र सिंह को छतरपुर, संजय सिंह को विदिशा, प्रमोद दास को गुना और राजेश चतुर्वेदी को राजगढ़ जिले का प्रभार सौंपा है.

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी इस टीम से प्रभार के जिलों में दौरे करने को कहा है. ये टीम केंद्र को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. इसी के आधार पर नीति आयोग पिछड़े जिलों की रैकिंग करेगा. गौरतलब है कि नीति आयोग की रिपोर्ट में प्रदेश के आठ जिलों को पिछड़े जिले बताया गया है.

    बता दें कि मार्च 2018 में  नीति आयोग ने देश के पिछड़ेपन की तस्वीर पेश करते हुए सबसे पिछड़े 101 जिलों की लिस्ट जारी की थी. इस लिस्ट में मध्य प्रदेश के आठ जिले  शामिल है. प्रदेश के सिंगरौली जिले को पिछड़ेपन की इस सूचि में तीसरा स्थान मिला है. इसके बाद बड़वानी, गुना, विदिशा, खंडवा, छतरपुर, दमोह और राजगढ़ का नंबर आता है.

    Tags: Bhopal, मध्य प्रदेश

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर