MP दौरे पर पीएम मोदी करेंगे कलेक्टरों से बात, बीमारू जिलों में मचा हड़कंप

पीएम मोदी 24 अप्रैल को मध्य प्रदेश आएंगे. नीति आयोग के बताए गए 8 बीमारू जिलों को पीएम के सामने बेहतर बताने का प्लान तेजी से तैयार किया जा रहा है

Makarand Kale
Updated: April 16, 2018, 6:45 PM IST
MP दौरे पर पीएम मोदी करेंगे कलेक्टरों से बात, बीमारू जिलों में मचा हड़कंप
PM Modi- (File Photo)
Makarand Kale
Updated: April 16, 2018, 6:45 PM IST
पीएम मोदी के 24 अप्रैल को प्रदेश दौरे से पहले शिवराज सरकार डैमेज कंट्रोल में जुट गई है. नीति आयोग के बताए गए 8 बीमारू जिलों को पीएम के सामने बेहतर बताने का प्लान तेजी से तैयार किया जा रहा है. इसी के तहत 57 साल के गुना कलेक्टर को एक युवा कलेक्टर से रिप्लेस भी कर दिया गया है.

दरअसल, 24 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जबलपुर में ग्राम स्वराज अभियान में शामिल होने आ रहे हैं. इस दौरे में पीएम प्रदेश के उन कलेक्टरों से भी बात करेंगे जिनके जिलों को हाल ही में नीति आयोग की रिपोर्ट में पिछड़ा बताया गया था.

इससे पहले कि इन कलेक्टरों की क्लास लगे सरकार ने कुछ तबादले कर दिए गए. गुना कलेक्टर राजेश कुमार जैन को हटाकर वहां बी विजय दत्ता को पदस्थ कर दिया गया. जैन इस क्षेत्र में करीब 2 साल से ज्यादा वक्त से पदस्थ थे.

नीति आयोग के अध्यक्ष खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं. वो इन पिछड़े जिलों की रिपोर्ट पर कलेक्टरों से बात करेंगे. जिन जिलों को नीति आयोग की रिपोर्ट में पिछड़ा बताया गया है उनमें बड़वानी, खंडवा, दमोह, गुना, विदिशा, राजगढ़, छतरपुर, सिंगरौली शामिल हैं.

पीएम मोदी के आने से पहले सभी ज़िलों के कलेक्टर रिपोर्ट तैयार करने में जुट गए हैं. रिपोर्ट ये कि कांग्रेस के 60 सालों के मुकाबले बीते 14 सालों में कितना विकास हुआ. इस बात को दरकिनार करते हुए कि अब भी ये ज़िले बीमारू औऱ पिछड़े हैं.

हैरानी इस बात से भी है कि बीमारु होने के बावजूद इन ज़िलों में से 3 कलेक्टरों को बेहतर काम करने के लिए सम्मानित तक किया जा चुका है. क्यों कोई नही जानता, हालांकि इसमें से गुना कलेक्टर का तबादला कर दिया गया है.

1-तेजस्वी एस. नायक, कलेक्टर बड़वानी - तेजस्वी एस नायक को स्वास्थ्य सेवाओं में नवाचार के लिए अवॉर्ड मिल चुका है. नीति आयोग ने स्वास्थ्य के मामले में बड़वानी को पिछड़े जिलों में भी 54वीं रैंक दी है.
2-श्रीनिवास शर्मा, कलेक्टर दमोह - दमोह कलेक्टर को मुख्यमंत्री ने युवा उद्यमियों के लिए अवॉर्ड दिया था। नीति आयोग ने जिले को शिक्षा में 40वीं, कृषि में 45वीं रैंक दी है. स्किल डेवलपमेंट में जिले को 11वीं रैंक दी है.
3-राजेश जैन, कलेक्टर गुना- राजेश कुमार जैन को सरकारी अस्पतालों में बिना डॉक्टर के प्रसव कराने के लिए अवॉर्ड मिला है. नीति आयोग ने माना है कि जिले में स्वास्थ्य सेवाओं की हालत खराब है और उसे स्वास्थ्य के मामले में 47वीं और शिक्षा के लिए 88वीं रैंकिंग दी है. हालांकि जैन का तबादला कर दिया गया है.

हालांकि इस बात में कोई दोराय नहीं है कि इन ज़िलों में 4 ज़िले वीवीआईपी ज़िलों में शुमार हैं.
विदिशा - केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का गृह जिला है. यहां से वर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज चौहान और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई सांसद रह चुके हैं.
खंडवा - बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान खंडवा से सांसद हैं.
दमोह - बीजेपी के कद्दावर नेता प्रह्लाद पटेल यहां से सांसद हैं. दमोह से विधायक जयंत मलैया राज्य सरकार में वित्त मंत्री हैं.
गुना - कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया यहां से सांसद हैं.

कांग्रेस भले ही बड़ा आंदोलन खड़ा करने में नाकाम रही हो लेकिन आरोप लगा रही है. कांग्रेस के मुताबिक 14 सालों में सरकार ने कोई विकास कार्य नहीं किया है.  बीजेपी ने मामले में सफाई दी है. बीजेपी का कहना है कि सरकार ने सभी ज़िलों के विकास के लिए अभूतपूर्व प्रयास किए हैं. हालांकि जो कमियां रह गई हैं उन्हें दूर किया जा रहा है.

ये पढ़ें- मध्य प्रदेश के आठ जिले अभी भी हैं बीमारू: नीति आयोग
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Madhya Pradesh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर