उपचुनाव से पहले PM मोदी का स्ट्रीट वेंडर्स से संवाद, बिना गारंटी के रेहड़ी वालों को 10,000 का लोन
Bhopal News in Hindi

उपचुनाव से पहले PM मोदी का स्ट्रीट वेंडर्स से संवाद, बिना गारंटी के रेहड़ी वालों को 10,000 का लोन
स्ट्रीट वेंडर योजना में 10 हज़ार लोन का प्रावधान है और इसमें बिना ब्याज का लोन देने का प्रावधान है. एमपी में 8 लाख 78 हज़ार आवेदन मिले हैं जिनमें से 4 लाख 51 हज़ार को प्रमाण पत्र जारी किए गए, 1 लाख 56 हज़ार आवेदन स्वीकृत किये गए और 1 लाख 8 हज़ार स्ट्रीट वेंडर के खातों में 10 हज़ार की राशि भेजी गई.

स्ट्रीट वेंडर योजना में 10 हज़ार लोन का प्रावधान है और इसमें बिना ब्याज का लोन देने का प्रावधान है. एमपी में 8 लाख 78 हज़ार आवेदन मिले हैं जिनमें से 4 लाख 51 हज़ार को प्रमाण पत्र जारी किए गए, 1 लाख 56 हज़ार आवेदन स्वीकृत किये गए और 1 लाख 8 हज़ार स्ट्रीट वेंडर के खातों में 10 हज़ार की राशि भेजी गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 9, 2020, 1:24 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में उपचुनाव का रण तेज हो गया है और इसी कड़ी में उप चुनाव के रण को धार देने का आगाज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्ट्रीट वेंडर योजना के हितग्राहियों से संवाद करके किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्ट्रीट वेंडर स्वनिधि योजना के तहत वैसे तो पूरे मध्य प्रदेश की जनता को संबोधित किया. लेकिन सीधे संवाद के लिए उन्होंने सांची, सांवेर और ग्वालियर के ही हितग्राहियों को चुना. पीएम ने सांची के डालचंद, ग्वालियर की अर्चना और सांवेर के छगनलाल से संवाद किया. ये तीनों ही वो जगह हैं जहां उपचुनाव हैं.

पीएम मोदी ने स्ट्रीट वेंडर योजना  के बेहतर क्रियान्वयन के लिए मध्यप्रदेश और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 तारीख को भी मध्यप्रदेश में पीएम आवास योजना के हितग्राहियों से संवाद करने वाले हैं उनके इन कार्यक्रमों को सीधे तौर पर बीजेपी की उप चुनाव की रणनीति के लिहाज से जोड़कर देखा जा रहा है.






सीएम ने क्या कहा?
स्ट्रीट वेंडर स्वनिधि योजना के संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज ने कहा कि कोरोना में पीएम ने देश के कल्याण के लिए काम किया. 80 करोड़ गरीबों को निशुल्क राशन का अभियान चलाया गया. संकट की घड़ी में योजना से सबको रोजगार मिल रहा है. कठिन हालात में पीएम ने आत्म निर्भर का नया मंत्र दिया. सीएम ने कहा कि हम आत्मनिर्भर भारत का रोड मैप पीएम को भेजेंगे. स्वनिधि योजना न होती तो रेहड़ी पर दुकान लगाने वाले इन लोगों को प्राइवेट लोगों से लोन लेना पड़ता.

स्ट्रीट वेंडर योजना में 10 हज़ार लोन का प्रावधान है और इसमें बिना ब्याज का लोन देने का प्रावधान है. एमपी में 8 लाख 78 हज़ार आवेदन मिले हैं जिनमें से 4 लाख 51 हज़ार को प्रमाण पत्र जारी किए गए, 1 लाख 56 हज़ार आवेदन स्वीकृत किये गए और 1 लाख 8 हज़ार स्ट्रीट वेंडर के खातों में 10 हज़ार की राशि भेजी गई.

पीएम मोदी ने क्या कहा?
पीएम मोदी ने स्ट्रीट वेंडर योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए एमपी की तारीफ करते हुए कहा कि पीएम स्वनिधि योजना के हितग्राहियों की बातों में विश्वास भी है और उम्मीद भी यही इस योजना की सबसे बड़ी ताकत है. सिर्फ 2 महीने में एक लाख से ज्यादा लोगों को योजना का लाभ मिला. अन्य राज्य भी एमपी से प्रोत्साहित होंगे.

पीएम मोदी की मानें तो कोरोना में पहले दिन से सरकार का प्रयास गरीबों की दिक्कतें दूर करने पर रहा हमने कोरोना में राशन, खाना, रोजगार की चिंता की रेहड़ी वालों का काम रोज की मेहनत से चलता था. कोरोना में सबसे ज्यादा असर इनके काम पर पड़ा. इन्हें फायदा देने के मकसद से ही स्वनिधि योजना बनी. उन्होंने कहा स्वाबलम्बन की यात्रा का ये अहम पड़ाव है.

इन योजनाओं पर काम
पीएम मोदी ने कहा कि रेहड़ी पटरी वाले दुकानदार डिजिटल लेनदेन में पीछे न रहें. सरकार नई योजना पर काम कर रही है जिसके तहत रेहड़ी ठेले वाले भी ऑनलाइन अपने आइटम की डिलीवरी कर पाएंगे. पीएम स्वनिधि से जुड़ने वालों को सरकार की बाकी योजनाओं का भी फायदा दिया जाएगा. उन्हें प्राथमिकता के आधार पर जोड़ा जाएगा.

पीएम के मुताबिक गरीबों के लिए बीते 6 साल में जितना काम हुआ है उतना पहले कभी नहीं हुआ. सरकार की योजनाएं गरीब का संबल बनकर आई हैं. गरीबों को बिना रिश्वत आवास मिल रहे हैं. कोरोना काल में 20 करोड़ महिलाओं के जनधन खाते में 31 हज़ार करोड़ रुपए ट्रांसफर किये गए. जल्द ही शहरों की तरह गांव भी ऑनलाइन बाजार से जुड़ेंगे. अगले एक हज़ार दिनों में देश के सभी गांव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जाएगा. इससे गांव-गांव तक इंटरनेट पहुंचेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज