लाइव टीवी

PM मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ VC, शिवराज सिंह चौहान ने बताई कोरोना से निपटने की रणनीति
Bhopal News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: April 2, 2020, 7:04 PM IST
PM मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ VC, शिवराज सिंह चौहान ने बताई कोरोना से निपटने की रणनीति
शिवराज सिंह चौहन ने पीएम मोदी को दी कोरोना वायरस से निपटने की रणनीति की जानकारी.

पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मध्य प्रदेश से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (hivraj Singh Chauhan) भी शामिल हुए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान राज्यों को कोरोना की रोकथाम के लिए कुछ जरूरी सुझाव दिए और मुख्यमंत्रियों से भी राज्यों का फीडबैक लिया.

  • Share this:
भोपाल. कोरोना वायरस (Coronavirus) से निपटने की रणनीति पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने गुरुवार को देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा की. पीएम नरेंद्र मोदी की इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मध्य प्रदेश से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) भी शामिल हुए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान राज्यों को कोरोना की रोकथाम के लिए कुछ जरूरी सुझाव दिए और मुख्यमंत्रियों से भी राज्यों का फीडबैक लिया.

टेस्टिंग, आइसोलेशन और क्वारंटाइन करने पर हो सरकारों का फोकस
पीएम मोदी ने कहा है कि राज्य सरकारें जिला स्तर पर क्राइसिस मैनेजमेंट के प्रासेस के तौर पर काम करें. पीएम ने कहा कि राज्य सरकारों का फोकस टेस्टिंग, आइसोलेशन और क्वारंटाइन करने पर होना चाहिए. प्रधानमंत्री ने कोरोना आपदा से लड़ने के लिए रिटायर्ड हेल्थ वर्कर चाहें वे सरकारी क्षेत्र के हों या निजी क्षेत्र के, उनकी मदद लेने को कहा है. इसके साथ ही एनसीसी और एनएसएस के वॉलंटियर की भी मदद लेने के लिए कहा है. पीएम ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि सामूहिकता ही हमारी शक्ति है. सभी विचारधारा के लोग एकजुट होकर कोरोना महामारी को परास्त करें. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ओर से भी प्रदेश में उठाए जा रहे कदमों की जानकारी दी गई.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की प्रमुख बातें



1- मध्यप्रदेश में गृह मंत्रालय की ओर से जारी निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के सभी संभव प्रयास चल रहे हैं. लोग भी इसे समझने लगे हैं.



2- मध्यप्रदेश में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में कोई गंभीर बाधा नहीं आ रही है. शहर में होम डिलीवरी की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है. माल परिवहन लॉकडाउन से पूरी तरह मुक्त है.

3- प्रदेश से होकर जाने वाले मालवाहनों के आवागमन में कोई समस्या नहीं हुई है. यह जरूर है कि ट्रकों की संख्या सामान्य दिनों से 10% ही रह गई है.

4- अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों की समस्या सेटल हो गई है. श्रमिकों के स्वास्थ्य परीक्षण के बाद करीब 5300 व्यक्ति विभिन्न जिलों के कैंपों में आइसोलेट किए गए हैं.

5- मध्य प्रदेश में इन श्रमिकों की आवश्यक मेडिकल जांच कराई गई है. प्रदेश में लगभग 8000 भोजन सामग्री के वितरण केंद्र बनाए गए हैं, जिसके जरिए लगभग दो से ढाई लाख फूड पैकेट का वितरण शहरी क्षेत्रों में और दो लाख फूड पैकेट प्रतिदिन ग्रामीण क्षेत्रों में वितरित किए जा रहे हैं.

6- प्रदेश में स्वयंसेवी संस्थाओं को भी इस काम में जोड़ा गया है.

7- प्रदेश के डॉक्टर, प्रशासनिक अधिकारी और पुलिस अधिकारी समन्वय और उत्साह से काम कर रहे हैं, जिससे प्रदेश में व्यवस्था ठीक है और उनकी हौसलाअफजाई की जा रही है.

ये भी पढ़ें - 

डॉक्टरों पर हमला: सख्त लहजे में शिवराज ने कहा- दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

UP में सामने आए Coronavirus के 121 पॉजिटिव मामले: अतिरिक्त मुख्य सचिव
First published: April 2, 2020, 6:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading