MP : नये गुंडों ने दी पुलिस को नयी टेंशन, एक-दो नहीं पूरे 2650

कई बदमाश ऐसे भी मिले जिन्हें ज़िला बदर करना पड़ा और कुछ के ख़िलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की गयी. पुलिस ने गुंडों के कई गिरोह को तितर-बितर भी किया ताकि वो पनप ना सकें

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 11, 2018, 7:57 AM IST
MP : नये गुंडों ने दी पुलिस को नयी टेंशन, एक-दो नहीं पूरे 2650
सांकेतिक चित्र
Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 11, 2018, 7:57 AM IST
मध्य प्रदेश में ढाई हज़ार से ज़्यादा  नये गुंडे-बदमाश बढ़ गए हैं.चुनावी कार्रवाई के बीच इन नये गुंडे-बदमाशों की पहचान हुई है.पुलिस ने इन्हें अपनी गुंडा लिस्ट में डाल कर नज़र रखनी शुरू कर दी है. पुराने गुंडे-बदमाशों को लेकर परेशान पुलिस अब नए बदमाशों के कारण टेंशन में आ गयी है.

चुनाव से पहले पूरे प्रदेश में पुलिस अलर्ट मोड पर आयी तो सन्न रह गयी. प्रदेश में 10 या 20 नहीं बल्कि पूरे 2560 नये गुंडों की जमात उसे मिली.  उसने चुनाव के दौरान शांति- व्यवस्था बनाए रखने के लिए जब अपराधियों के ख़िलाफ अभियान छेड़ा तो पुरानों के साथ कई नये बदमाश भी सक्रिय दिखे.अभी तक भोपाल सहित पूरे प्रदेश में करीब 2560 ऐसे अपराधी  पुलिस की नज़र में आए जिन पर 3 या फिर उससे ज्यादा गंभीर अपराध दर्ज हैं.इन्हें इसलिए गुंडा लिस्ट में शामिल किया गया, क्योंकि थाना स्तर से मिली रिपोर्ट में इन सभी की आपराधिक पृष्ठभूमि और आदतन अपराधी होने का खुलासा हुआ है. अब इनकी निगरानी थाना स्तर पर की जा रही है.

नए बदमाशों में कुछ सफेद पोश नेता भी शामिल हैं.नेतागिरी की आड़ में ये अपनी बदमाशी को चमका रहे थे.पुलिस ने इन्हें भी चिन्हित कर गुंडा लिस्ट में शामिल कर लिया.पुलिस पहले ही पुराने बदमाशों पर काबू नहीं पा सकी थी और अब ये नये बदमाश नये सिरे से चुनौती दे रहे हैं.

8 नवंबर तक पुलिस 33 हजार 613 गैर ज़मानती वारंटियों पर कार्रवाई कर चुकी है. इसके साथ ही उसने 3 हजार 251 अवैध हथियार ज़ब्त किए और 2 लाख 57 हजार 736 शस्त्र थानों में जमा कराए. पुराने गुंडे-बदमाशों के खिलाफ बाउंड ओवर के साथ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गयी.

कई बदमाश ऐसे भी मिले जिन्हें ज़िला बदर करना पड़ा और कुछ के ख़िलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की गयी. पुलिस ने गुंडों के कई गिरोह को तितर-बितर भी किया ताकि वो पनप ना सकें. इतना ही नहीं एक ही जेल में बंद एक गिरोह के बदमाशों को अलग-अलग जेलों में भेज दिया गया ताकि वो कोई साज़िश ना कर सकें.

ये भी पढ़ें - VIDEO : ज्योतिरादित्य ने चुटकी ली, 'घोषणा-पत्र' चाहिए तो 'घोषणावीर' के पास जाइए
    Loading...
  •                 VIDEO : दिग्विजय सिंह ने कहा-मुझे गाली दो और मेरे 10 पुतले फूंक दो  

Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर