होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /पुलिस कमिश्नर सिस्टम भी अपराध कम नहीं कर पाया, भोपाल में 11 महीने में 405 रेप

पुलिस कमिश्नर सिस्टम भी अपराध कम नहीं कर पाया, भोपाल में 11 महीने में 405 रेप

भोपाल में पुलिस कमिश्नर सिस्टम में अफसरों की भरमार है, फिर भी कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार नहीं आया है.

भोपाल में पुलिस कमिश्नर सिस्टम में अफसरों की भरमार है, फिर भी कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार नहीं आया है.

police commissioner system. मध्यप्रदेश के दो नगरों भोपाल और इंदौर में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू है. इसे लागू किए 1 साल ...अधिक पढ़ें

भोपाल. मध्यप्रदेश के भोपाल और इंदौर में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू हुए एक साल पूरा हो गया है, लेकिन सरकार ने पुलिस कमिश्नर सिस्टम को सशक्त नहीं बनाया. बल्कि कई अधिकार अभी भी जिला प्रशासन के पास हैं. नतीजा ये हुआ कि भोपाल में बीते एक साल में हुए अपराधों की तुलना की जाए तो पुलिस कमिश्नर सिस्टम में अपराध बढ़े हैं.

सरकार ने पुलिस कमिश्नर सिस्टम को पुलिस एक्ट, प्रतिबंधात्मक कार्रवाई में 107-116 सहित रासुका, धारा 144 और 133, मोटरयान अधिनियम, प्रिजनर एक्ट, विष अधिनियम,अनैतिक व्यापार अधिनियम, बंदी अधिनियम, शासकीय गोपनीय अधिनियम,विधि विरुद्ध क्रियाकलाप निवारण अधिनियम जैसे कानून के अधिकार दिए थे, लेकिन आज भी सरकार ने पुलिस कमिश्नर सिस्टम को आर्म्स एक्ट, आबकारी एक्ट के पावर नहीं दिए. पुलिस के कई अधिकार अभी भी जिला प्रशासन के पास हैं. हालांकि इंदौर में पुलिस कमिश्नर सिस्टम के एक साल पूरा होने पर इंदौर पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्रा ने कहा है कि इंदौर में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू होने के बाद अपराधों में कमी आयी है.

भोपाल में अपराध बढ़े
भोपाल में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू होने के बाद अपराध कम नहीं हुए हैं. अफसरों की लंबी फौज होने के बाद भी अपराधों में कमी नहीं आयी है. 2019 की तुलना में 2022 में दर्ज अपराधों में बढ़ोतरी हुई है. शहर में नशे का चलन तेजी से बढ़ा है. बढ़ते अपराधों के आंकड़ों को देखा जाए तो 30 नवंबर तक 405 रेप के केस दर्ज हुए, 195 केस में परिचित लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई. 198 केस में शादी का झांसा देकर रेप होने के मामले सामने आए हैं.

कमिश्नर सिस्टम में अफसरों की भरमार 
पुलिस कमिश्नर के अलावा इस सिस्टम में अफसरों की भरमार है, भोपाल की बात करें तो यहां 34 थानों में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू है. इस सिस्टम में अफसरों की बात करें तो पुलिस कमिश्नर के अलावा दो एडिशनल पुलिस कमिश्नर के पद हैं, हालांकि एक एडिशनल पुलिस कमिश्नर का पद खाली है. शहर में आठ डीसीपी (DCP) यानि SP हैं, एडीशनल एसपी (SP) लेवल के 12 अफसरों की पोस्टिंग एडिशनल डीसीपी (DCP) के रूप में हुई है. सीएसपी (CSP) लेवल के 29 सहायक पुलिस आयुक्त हैं.

Tags: Bhopal news, Bhopal News Updates, Bhopal Police, Madhya pradesh latest news, Madhya pradesh news, Madhya Pradesh News Updates

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें