Drug Mafia पर रेड: मात्र 170 में इंजेक्शन लीजिए और “हवा में उड़िए”

शहर में मात्र 170 रुपये में आपको ड्रग्स का इंजेक्शन मिल जाएगा.

पुलिस को रेड में पता चला कि नशा कितने सस्ते में बाजार में उपलब्ध है. इतना ही नहीं अगर आपको इंजेक्शन लगाना नहीं आता तो कोई बात नहीं. वहीं मेडिकल शॉप पर ही आपको इसके एक्सपर्ट मिल जाएंगे, जो ज्यादा पैसे लेकर आपको इंजेक्शन लगा देंगे. पुलिस ने यहां से बड़ी मात्रा में सिरींज और निडिल बरामद की हैं.  

  • Share this:
भोपाल. शहर में मात्र 170 रुपये में आपको ड्रग्स का इंजेक्शन मिल जाएगा और आप आराम से बिना किसी को खबर हुए “हवा में उड़ सकते हैं”. जी हां, ये चौंकाने वाला खुलासा हुआ है शनिवार रात को पुलिस द्वारा मारी गई रेड में. रेड के दौरान कुछ ऐसे भी लोग पकड़ में आए जो वहीं ऑन द स्पॉट डिमांड करने पर इंजेक्शन लगा भी देते थे. कमाल की बात यह है कि एक ही इंजेक्शन को कई लोगों को लगा दिया जाता था.

क्राइम ब्रांच भोपाल ने शनिवार रात भोपाल के ऐशबाग और छोला इलाके में दबिश दी और आरोपियों को गिरफ्तार किया. आरोपियों के कब्जे से Buprenorphine और Pheniramine इंजेक्शन बरामद किए. बताया जाता है कि यह इंजेक्शन नारकोटिक्स की श्रेणी में आता है. आरोपी इन्हें स्टूडेंट्स और युवाओं को बेचते थे और भारी भरकम रकम कमाते थे. कई ग्राहकों को तो ये ऊंचे दामों में भी इंजेक्शन बेचते थे.

पुलिसकर्मी को भेजा ग्राहक बनाकर

क्राइम ब्रांच की टीम ने अपने एक सदस्य को ग्राहक बनाकर तैयार किया. उसे पहले कैंची छोला इलाके के एक मेडिकल शॉप पर इंजेक्शन लेने भेजा. जैसे ही उसे यहां ड्रग्स का इंजेक्शन मिला वैसे ही पुलिस ने यहां रेड कर दी. रेड के बाद पुलिस ने यहां से भारी मात्रा में इंजेक्शन और निडिल बरामद की. पुलिस की गिरफ्त में आए रोहित कुचबंदिया और सुमित कुचबंदिया ने बताया कि इस इंजेक्शन का कोई वैध लाइसेंस उनके पास नहीं है.

ऑन द स्पॉट भी लगाते हैं इंजेक्शन

गिरफ्तार रोहित और सुमित ने बताया कि ग्राहकों के कहने पर वे मौके पर ही उन्हें इंजेक्शन भी लगाते हैं. क्योंकि कई लोगों को इसे लगाना नहीं आता. आरोपियों से पूछताछ के दौरान यह बात  भी सामने आई है कि दोनों तरह के इन्जेक्शन को मिलाकर 04 एमएल का एक डोज बनाया जाता था। इसको मिलाकर सिरींज को नस में लगाया जाता था।  एक ही सिरींज को कई लोगों को लगाया जाता था. वहीं, दूसरी ओर पुलिस ने ऐशबाग इलाके से आसिफ पिता बबलू निवासी बागफरतअफजा को भी गिरफ्तार किया, उसके पास से पुलिस को भारी मात्रा में निडिल/इन्जेक्शन और डिस्पोजेबल सिरींज मिली. यहां पर भी इन्जेक्शन खरीदने वाले व्यक्ति को मौके पर ही इन्जेक्शन लगाया जाता है। डॉक्टर्स बताते हैं कि बिना प्रिस्क्रिप्शन इन इंजेक्शन को नहीं खरीदा जा सकता. अगर किसी व्यक्ति द्वारा  दोनों इन्जेक्शनों को मिलाकर 02 एमएल से ऊपर डोज दिया जाता है तो वह उसके जानलेवा होगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.