लाइव टीवी

Political Crisis in MP: बेंगलुरू के रिजॉर्ट से सिंधिया समर्थक विधायकों ने जारी किए VIDEO
Bhopal News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: March 11, 2020, 3:20 PM IST
Political Crisis in MP: बेंगलुरू के रिजॉर्ट से सिंधिया समर्थक विधायकों ने जारी किए VIDEO
सिंधिया समर्थक विधायक मनोज चौधरी ने वीडियो जारी किया. (वीडियो ग्रैब)

जिन लोगों के वीडियो आए उनमें कांग्रेस विधायक इमरती देवी, तुलसीराम सिलावट, प्रभु राम चौधरी, सुरेश धाकड़, रणवीर जाटव, महेंद्र सिंह सिसोदिया, रक्षा संतराम सरोनिया, रघुराज कंसाना, मुन्नालाल गोयल, गिरिराज दंडोतिया, जसवंत जाटव,कमलेश जाटव शामिल हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश में जारी सियासी संग्राम में हर पल नई तस्‍वीर सामने आ रही है. कांग्रेस के 19 बागी विधायकों को बेंगलुरू के रिजॉर्ट में रखा गया है. इन्‍हीं में से कुछ मंत्री और विधायकों ने वीडियो जारी किए हैं. वीडियो में उन्‍होंने उन खबरों का खंडन किया है, जिनमें कहा जा रहा है कि ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) समर्थक मंत्री और विधायक बीजेपी में नहीं जाना चाहते है. सभी ने एक सुर से कहा कि वो महाराज के साथ हैं. उनके सेवक हैं और उनके साथ हैं. जिन लोगों के वीडियो आए उनमें कांग्रेस विधायक इमरती देवी, तुलसीराम सिलावट, प्रभु राम चौधरी, सुरेश धाकड़, रणवीर जाटव, महेंद्र सिंह सिसोदिया, रक्षा संतराम सरोनिया, रघुराज कंसाना,  मुन्नालाल गोयल, गिरिराज दंडोतिया, जसवंत जाटव,कमलेश जाटव शामिल हैं.

कांग्रेस विधायक मनोज चौधरी का वीडियो हम यहां दिखा रहे हैं. इसमें बेंगलुरू से एक वीडियो जारी किया है, जिसमें वह कह रहे हैं कि वह हमेशा 'महाराज' के साथ थे और रहेंगे. मनोज चौधरी हाट पिपल्या से कांग्रेस विधायक हैं.इस वीडियो में मनोज चौधरी सवाल उठा रहे हैं, 'आखिर ऐसे हालात क्यों बने? महाराज साहब और उनके समर्थकों के साथ कैसा व्यवहार किया गया ये सब जानते हैं. हम हमेशा महाराज साहब के साथ थे और रहेंगे.'

इससे पहले खबर आई थी कि बेंगलुरू गए विधायकों में से 12 ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) में जाने से इनकार कर दिया है. सूत्रों ने बताया था कि बेंगलुरू पहुंचे 10 विधायक और दो मंत्री बीजेपी में जाने को तैयार नहीं हैं. जानकारी के मुताबिक, सिंधिया समर्थक 19 MLA को बेंगलुरू में ठहराया गया है. सियासी उथल-पुथल के बीच मध्‍य प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. हालांकि, कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता लगातार बहुमत होने का दावा कर रहे हैं. साथ ही फ्लोर टेस्‍ट में बहुमत साबित करने की बात भी कह रहे हैं.







19 बागी विधायक भेजे गए हैं बेंगलुरू
ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया और कांग्रेस नेतृत्‍व के बीच कलह बढ़ने के साथ ही मध्‍य प्रदेश में सत्‍तारूढ़ पार्टी में फूट और बगावत के आसार तेज हो गए थे. आखिरकार पार्टी में फूट सार्वजनिक भी हो गई. इस राजनीतिक तोड़फोड़ के बीच सिंधिया समर्थक 19 विधायकों को बेंगलुरू भेज दिया गया, ताकि उन्‍हें कोई तोड़ न सके. इस बीच खबर आई थी कि 12 बागी विधायकों ने भाजपा में जाने से इनकार कर दिया है. खबरों के मुताबिक, इन विधायकों का कहना है कि वह महाराज (ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया) के लिए आए थे, न कि बीजेपी में शामिल होने के लिए. बागी विधायकों के इस तेवर से मध्‍य प्रदेश की राजनीति में नया ट्विस्‍ट आने की बात कही जाने लगी थी.

शोभा ओझा ने किया था यह दावा
इससे पहले कांग्रेस की वरिष्‍ठ नेता शोभा ओझा ने बेहद महत्‍वपूर्ण दावा किया था. उन्‍होंने दावा किया था कि मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने बेंगलुरू गए सभी विधायकों से बात की है. कांग्रेस नेता ने कहा था, 'सीएम कमलनाथ ने सभी 19 बागी विधायकों से बात की है. सीएम ने विधायकों से कहा कि वह क्‍यों दोबारा चुनाव लड़ कर अपना भविष्‍य खराब कर रहे हैं.' इस बीच, सीएम कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ ने दावा कि किया सभी बागी विधायक जल्‍द ही वापस लौट आएंगे. उन्‍होंने कमलनाथ सरकार को किसी तरह का संकट होने की बात से भी इनकार किया है.

ये भी पढ़ें-

जयपुर शिफ्ट हुए कांग्रेस विधायक, बोले लौटकर बीजेपी को देंगे पटखनी

कांग्रेस सेवादल प्रदेश अध्यक्ष सत्येंद्र यादव ने वापस लिया इस्तीफा

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 11, 2020, 2:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading