Home /News /madhya-pradesh /

MP: सिंधिया समर्थक 6 मंत्री बर्खास्त, राज्यपाल ने विभागों का किया बंटवारा

MP: सिंधिया समर्थक 6 मंत्री बर्खास्त, राज्यपाल ने विभागों का किया बंटवारा

बताया जा रहा है कि बागी विधायक अब बेंगलुरु में ही रहेंगे. हालांकि उनके भोपाल आने के संबंध में कोई जानकारी अभी नहीं दी गई है.

बताया जा रहा है कि बागी विधायक अब बेंगलुरु में ही रहेंगे. हालांकि उनके भोपाल आने के संबंध में कोई जानकारी अभी नहीं दी गई है.

राज्यपाल लालजी टंडन ने कमलनाथ सरकार की सिफारिश पर मंत्रिपरिषद के 6 सदस्यों को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया है. इन मंत्रियों में इमरती देवी, तुलसीराम सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, महेन्द्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युम्न सिंह तोमर और डॉ. प्रभुराम चौधरी शामिल हैं.

अधिक पढ़ें ...
भोपाल. मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में चल रही राजनीतिक उथल-पुथल के बीच राज्यपाल लालजी टंडन ने कमलनाथ सरकार में शामिल सिंधिया समर्थक 6 मंत्रियों को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया है. उनके विभाग दूसरे मंत्रियों को दे दिए गए हैं. कमलनाथ सरकार की सिफारिश पर राज्यपाल लालजी टंडन ने मंत्रिपरिषद के 6 सदस्यों को तत्काल प्रभाव से मंत्रिमंडल से अलग कर दिया है. इन मंत्रियों में इमरती देवी, तुलसीराम सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, महेन्द्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युम्न सिंह तोमर और डॉ. प्रभुराम चौधरी शामिल हैं.

इधर, ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) के भाजपा की ओर से राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन पत्र भरते ही उनके समर्थक कांग्रेस विधायकों के (congress mla) भी बेंगलुरु से भोपाल रवाना होने की खबर आ रही थी लेकिन बाद में उनका कार्यक्रम रद्द कर दिया गया. भोपाल एयरपोर्ट पर बीजेपी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के टकराव की आशंका को देखते हुए इलाके में धारा 144 भी लागू कर दी गई थी.

विधायकों को दिया था हाजिर होने का समय
वहीं पूरे मामले में विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने कहा कि इस्तीफा दे चुके विधायकों को हाजिर होने का समय दिया गया था. लेकिन वे नहीं आए. प्रजापति ने कहा कि शुक्रवार को मैंने करीब तीन घंटे तक 6 विधायकों का इंतजार किया. अब शनिवार को अन्य विधायकों को समय दिया है. जो विधायक शुक्रवार को नहीं पहुंचे उन्हें जल्द ही अगली तारीख दी जाएगी.

विभागों का बंटवारा

  • विजयलक्ष्मी साधो को महिला बाल विकास

  • मंत्री गोविंद सिंह को खाद्य नागरिक आपूर्ति

  • बृजेंद्र सिंह राठौर को परिवहन

  • सुखदेव पांसे को श्रम

  • जीतू पटवारी को राजस्व

  • कमलेश्वर पटेल को स्कूल

  • तरुण भनोट को स्वास्थ्य विभाग दे दिया गया है





एयरपोर्ट पर कड़ी सुरक्षा
विधायकों के बेंगलुरु से भोपाल रवाना होने की खबर आने के बाद एयरपोर्ट पर कड़ी सुरक्षा कर दी गई थी. वहीं बीजेपी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के टकराव की आशंका को देखते हुए एयरपोर्ट के इलाके में धारा 144 भी लगा दी गई. वहीं सुरक्षा की कमान खुद आईजी इरशाद वली संभाले हुए हैं. उनके साथ DIG, 2 एसपी, 4 एएसपी, 5 सीएसपी, 8 टीआई और करीब 1000 पुलिस जवान तैनात हैं. एयरपोर्ट छावनी में तब्दील है. सुरक्षा में 31 गनमैन लगाए गए हैं.

विशेष विमानों से आने की थी खबर
सुबह से ही खबर थी कि बागी विधायक बेंगलुरु से तीन विशेष विमानों में भोपाल पहुंचेंगे. बताया जा रहा था कि इनमें से दो विमान 10 सीटर हैं और एक विमान 8 सीटर है. वहीं यह भी चर्चा थी कि इन विधायकों को बीजेपी के तीन वरिष्ठ नेता अपने साथ लेकर आ रहे हैं. इन सभी के साथ विधायक रक्षा सरोनिया के पति संतराम के आने की भी बात थी.

ये हैं बागी विधायक
इमरती देवी
जसवंत जाटव
सुरेश धाकड़​
मनोज चौधरी
ऐंदल सिंह कंसाना
मोहन सिंह
रक्षा सिरोनिया
तुलसी सिलावट
गोविंद सिंह राजपूत
प्रद्युम्न सिंह तोमर
प्रभु राम चौधरी
राजवर्धन सिंह
महेंद्र सिंह सिसोदिया
कमलेश जाटव

बीजेपी नेता 
अरविंद सिंह भदौरिया
रमाकांत भार्गव
उमाशंकर गुप्ता

विधानसभा सचिवालय ने मांगी सुरक्षा
विधायकों के लौटने की खबर को देखते हुए विधानसभा सचिवायल ने भी एहतियाती कदम उठाने शुरू कर दिए थे. सचिवालय की तरफ से पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर एयरपोर्ट पर उन विधायकों की सुरक्षा के इंतजाम करने के लिए लिखा था.

कांग्रेस ने लगाया था बंधक होने का आरोप
कांग्रेस लगातार ये आरोप लगा रही है कि बीजेपी ने सिंधिया खेमे के इन मंत्री और विधायकों को बंधक बना रखा है. उन्हें दबाव और धमकी देकर ले जाया गया. यहां तक कहा गया कि उन्हें किडनैप किया गया. सीएम से लेकर बाकी नेता और मंत्री भी विधायकों को बंधक बनाए जाने के आरोप लगाते रहे हैं.

पटवारी और लाखन सिंह को गिरफ्तार किया था
गुरुवार को वो वीडियो भी सामने आए, जिसमें कमलनाथ सरकार में मंत्री जीत पटवारी के साथ बेंगलुरु पुलिस की बहस और धक्का-मुक्की दिखाई दी. कांग्रेस ने भोपाल पीसीसी ऑफिस में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया को ये वीडियो दिखाए. आरोप लगाया कि बीजेपी की ओर से बंधक बनाए गए विधायकों को लेने गए जीतू पटवारी और लाखन सिंह के साथ बेंगलुरु पुलिस ने दुर्व्यवहार किया और फिर उन्हें हिरासत में ले लिया था.



(रिपोर्टर मनोज राठौर के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-

CM कमलनाथ बोले- MP की राजनीति में आ गया है कोरोना वायरस...

ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी ने राज्यसभा के लिए भरा पर्चा

Tags: Bhopal news, BJP, Congress MLA, Jyotiraditya Madhavrao Scindia, Madhya Pradesh Assembly, Shivraj singh chauhan

अगली ख़बर