लाइव टीवी

MP: फ्लोर टेस्ट से पहले ही CM कमलनाथ दे देंगे इस्तीफा! दिग्विजय ने दिया इशारा
Bhopal News in Hindi

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 20, 2020, 4:21 PM IST
MP: फ्लोर टेस्ट से पहले ही CM कमलनाथ दे देंगे इस्तीफा! दिग्विजय ने दिया इशारा
मध्‍य प्रदेश में पहली बार एक साथ 24 विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव होना है.

मध्य प्रदेश विधानसभा की कुल 230 सीटों में से 2 विधायकों के निधन और 22 के इस्तीफे के बाद अब कुल 206 सदस्य बचे हैं. ऐसे में सरकार को बहुमत साबित करने के लिए 104 विधायक चाहिए.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) में बीते कुछ दिनों से चल रहे सियासी घमासान के बीच अब मुख्यमंत्री कमलनाथ संकट में दिख रहे हैं.  एमपी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (digvijay singh) ने साफ कहा कि सरकार के पास पूरे नंबर नहीं हैं. ऐसे में फ्लोर टेस्ट से पहले ही कमलनाथ के इस्तीफे की अटकलें जोरों पर हैं. दरअसल सुप्रीम कोर्ट (supreme court) के आदेश के बाद आज दोपहर 2:00 बजे विधानसभा में फ्लोर टेस्ट (floor test) होना है. इसे लेकर कमलनाथ (CM kamalnath) कांग्रेस विधायक दल की बैठक ले रहे हैं. बैठक में सरकार अपनी आखिरी रणनीति पर चर्चा करेगी और बहुमत के लिए जरूरी आंकड़ों पर मंथन होगा.

विधायकों के साथ मंथन
16 विधायकों के इस्तीफे के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ बहुमत के आंकड़े को जुटाने को लेकर विधायकों के साथ माथापच्ची कर रहे हैं. खबर है कि बहुमत के लिए जरूरी आंकड़ा नहीं जुट पाने की स्थिति में कमलनाथ फ्लोर टेस्ट से पहले ही मुख्यमंत्री पद से अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप देंगे. हालांकि इसका फैसला विधायक दल की बैठक में होगा, इसके बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ दोपहर 12:00 बजे मीडिया से भी रूबरू होंगे.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में होगा सीन क्लियर



प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम कमलनाथ बीजेपी पर हॉर्स ट्रेडिंग करने और अपने सवा साल के कामकाज का ब्योरा पेश कर सकते हैं. प्रदेश में विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर सीएम कमलनाथ बीजेपी के रवैये को लेकर मीडिया के सामने जानकारी रखेंगे. इसी में सीन क्लियर हो जाएगा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद राज्यपाल को अपना इस्तीफा देने जा रहे हैं या फिर विधानसभा में होने वाले फ्लोर टेस्ट में शामिल होंगे. बहरहाल कुछ घंटों का समय बाकी है और उसके बाद तय हो जाएगा कि प्रदेश में कमलनाथ सरकार रहेगा या फिर कमल खिलेगा.



ये है सदन का आंकड़ा
MP विधानसभा में 230 सीटें हैं. 2 विधायकों के निधन और कांग्रेस के 22 बागी MLA के इस्तीफे के बाद अब 206 विधायकों के आधार पर ही फ्लोर टेस्ट होगा. ऐसे में सरकार को बहुमत साबित करने के लिए 104 विधायक चाहिए. लेकिन कांग्रेस के पास इस वक्त सिर्फ 92 विधायक हैं. कमलनाथ सरकार को समर्थन दे रहे सपा, बसपा और निर्दलीय विधायकों की संख्या 7 है. अगर सारा गुणा भाग कर लिया जाए तो भी ये आंकड़ा 99 पर पहुंचता है. यानी बहुमत से 5 कदम दूर. उधर बीजेपी के पास 107 विधायक हैं. हालांकि वो दावा सिर्फ 106 विधायकों का कर रही है. उसने राज्यपाल के सामने परेड में भी 106 विधायक ही शामिल किए थे. पार्टी ने अपने विधायक नारायण त्रिपाठी का नाम उस सूची में शामिल नहीं किया था. त्रिपाठी जुलाई में दंड विधि संशोधन विधेयक पर कमलनाथ सरकार के पक्ष में क्रॉस वोटिंग कर चुके हैं.

पीसी शर्मा का दावा
हालांकि कमलनाथ सरकार में मंत्री पीसी शर्मा का दावा है कि हमारे साथ 105 विधायक हैं. जबकि बीजेपी के पास सिर्फ 102 विधायक हैं. सीएम अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में मीडिया के सामने पूरे घटनाक्रम को रखेंगे. शर्मा ने भी बीजेपी पर विधायकों की ट्रेडिंग का आरोप लगाते हुए कहा ये हॉर्स ट्रेडिंग नहीं एलीफेंट ट्रेडिंग थी.

 

ये भी पढ़ें-

Corona Virus Effect-मध्यप्रदेश में 10 वीं, 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित

MP में सियासी संकट : कमलनाथ सरकार की आज अग्नि परीक्षा, देर रात कार्यसूची जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 20, 2020, 10:31 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading