एमपी में "टाइगर" की सियासत चरम पर, बीजेपी-कांग्रेस में श्रेय लेने के लिए मची होड़

बीजेपी ने टाइगर स्टेट का दर्जा मिलने का श्रेय लेते हुए एमपी की कमलनाथ सरकार पर आरोप लगाया है कि वो बाघों की सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं हैं.

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 30, 2019, 1:35 PM IST
एमपी में
MP को टाइगर स्टेट का दर्जा मिलने के बाद बीजेपी-कांग्रेस में श्रेय लेने की राजनीति शुरू
Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 30, 2019, 1:35 PM IST
मध्य प्रदेश को टाइगर स्टेट का दर्जा मिलने के बाद अब यहां श्रेय लेने की राजनीति शुरू हो गई है. इसी क्रम बीजेपी ने टाइगर स्टेट का दर्जा मिलने का श्रेय लेते हुए एमपी की कमलनाथ सरकार पर आरोप लगाया है कि वे बाघों की सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं हैं. बीजेपी का आरोप है कि कमलनाथ सरकार आने के बाद से अब तक सूबे में 15 से ज्यादा बाघों की मौत हो चुकी है. वहीं कांग्रेस सरकार के बचाव में खड़ी हो गई है.

मध्य प्रदेश में बाघों की हो रही मौत पर BJP ने कांग्रेस पर साधा निशाना

बता दें कि मध्य प्रदेश को टाइगर स्टेट का दर्जा मिलने के एक दिन बाद ही इस पर सियासत शुरू हो गई है. बीजेपी ने टाइगर स्टेट का दर्जा मिलने का श्रेय पूर्व की शिवराज सरकार को देते हुए कमलनाथ सरकार को कठघरे में खड़ा किया है. बीजेपी विधायक विश्वास सारंग की मानें तो कांग्रेस सरकार की गलत नीतियों की वजह से टाइगर स्टेट का दर्जा मध्य प्रदेश से छीन गया था और अब मौजूदा सरकार भी उसी दिशा में आगे बढ़ रही है.

कमलनाथ-kamal nath
कमलनाथ सरकार पर बीजेपी ने बाघों की मौत को लेकर निशाना साधा है


दरअसल, कमलनाथ सरकार को घेरने के पीछे की वजह विश्वास सारंग की ओर से विधानसभा में बाघों की मौत को लेकर पूछे गए एक सवाल का वो जवाब है, जिसमें बाघों की मौत को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. आंकड़ों के मुताबिक 1 अक्टूबर 2018 से 27 जून 2019 तक मध्य प्रदेश में 23 बाघों की मौत हुई है. इनमें से 3 बाघों की मौत शिकार की वजह से हुई जबकि 5 बाघों की मौत करंट लगने से हुई है. बाकी के बाघ आपसी लड़ाई या फिर प्राकृतिक कारणों से मारे गए.

BJP गंभीर थी, तो टाइगर स्टेट का दर्जा तब ही क्यों नहीं मिल गया: कांग्रेस का पलटवार

इधर, बीजेपी के आरोपों पर कांग्रेस ने पलटवार किया है. कांग्रेस नेता माणक अग्रवाल की मानें तो बीजेपी की सरकार अगर बाघों की सुरक्षा को लेकर गंभीर थी, तो टाइगर स्टेट का दर्जा तब ही क्यों नहीं मिल गया था.
Loading...

बहरहाल, बाघों को लेकर मध्य प्रदेश को टाइगर स्टेट का दर्जा मिले या उनकी मौत हो इसका क्रेडिट या कमी सबकी बराबर जिम्मेदारी है. ऐसे में उम्मीद की जानी चाहिए कि मध्य प्रदेश के जंगलों की शान बाघ कम से कम राजनीति से दूर रहे.

ये भी पढ़ें:- 24 घंटे में 8 इंच बारिश और बाढ़ में घिर गयीं 190 छात्राएं 

ये भी पढ़ें:- घोटालों को खोलने में लगी कमलनाथ सरकार...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 30, 2019, 1:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...