लाइव टीवी

MP में बेरोजगारी को लेकर BJP-कांग्रेस में छिड़ी सियासत, जानिए क्‍या है हकीकत?

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 21, 2019, 12:00 AM IST
MP में बेरोजगारी को लेकर BJP-कांग्रेस में छिड़ी सियासत, जानिए क्‍या है हकीकत?
एमपी में बेरोजागरी पर सियासत

मध्‍य प्रदेश में बेरोजगारी (Unemployment) के मुद्दे पर फिर से सियासत छिड़ गई है. कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) ने बेरोजगारी घटने का दावा किया है. वहीं नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव (Gopal Bhargava) ने कांग्रेस के दावों को गुमराह करने वाला बताया है.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश में बेरोजगारी (Unemployment) के मुद्दे पर फिर से सियासत छिड़ गई है. कांग्रेस का दावा है कि बीजेपी सरकार (BJP Government) के मुकाबले कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) में बेरोजगारी की दर सात फीसदी से घटकर 4.2 पहुंच गई है. वहीं कांग्रेस के दावे पर अब बीजेपी ने बेरोजगारी के मुद्दे पर सरकार को घेरने का ऐलान कर दिया है. सच कहा जाए तो 2018 के चुनाव में बेरोजगारी बड़ा मुद्दा बना था, जो एक बार फिर से गर्म हो गया है.

कांग्रेस ने किया ये दावा
कमलनाथ सरकार का दावा है कि बीजेपी सरकार के मुकाबले कांग्रेस सरकार के दस महीने के कार्यकाल में बेरोजगारी की दर घटकर करीब आधा हो गई है. कांग्रेस ने सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी की अक्टूबर 2019 में जारी रिपोर्ट का हवाला देते हुए दिसंबर 2018 के बाद से लगातार बेरोजगारी में कमी आने का दावा किया है. कांग्रेस का दावा है कि पूरे देश में जब बेरोजगारी का आंकड़ा बढ़ रहा है. ऐसे में प्रदेश में हर महीने बेरोजगारी के आंकड़ों में कमी दर्ज हो रही है. कांग्रेस ने दिसंबर 2018 में दर्ज बेरोजगारी 7 फीसदी दर के सितंबर में 4.2 फीसदी पहुंचने का दावा किया है.

भाजपा बनाम कांग्रेस

कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष अभय दुबे के मुताबिक कांग्रेस सरकार के दस महीने के कार्यकाल में हुए निवेश के असर के कारण प्रदेश में बेरोजगारी की दर घटी है. वहीं कांग्रेस के दावों पर बीजेपी ने पलटवार बोला है. नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने सीएमआईई के हवाले से कांग्रेस के दावों को गुमराह करने वाला बताया है. बीजेपी ने झूठे आंकड़ों पर कांग्रेस को सरकार की पीठ थपथपाने का आरोप लगाया है. वहीं भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडेय ने अब बेरोजगारी के मुद्दे पर सरकार को घेरने का एलान कर दिया है. इसकी शुरुआत नवंबर महीने में य़ुवाओं के बीच हस्ताक्षर अभियान के जरिए की जाएगी.

जानकारी के मुताबिक प्रदेश के रोजगार कार्यालयों में रजिस्टर्ड बेरोजगारों की संख्या तीस लाख से ऊपर है, लेकिन कांग्रेस का दावा है कि सरकार की पहल पर हो रहे निवेश के कारण अब बेरोजगारी का आंकड़ा तेजी से घटने लगा है.


इन दावों की हकीकत को लेकर अब प्रदेश में सियासी बवाल उठ खड़ा हुआ है और बीजेपी ने इसे सरकार के खिलाफ बड़ा मुद्दा बनाकर युवाओं तक पहुंचने का ऐलान कर दिया है.
Loading...

ये भी पढ़ें-
सीनियर अधिकारियों के सामने सिपाही ने मंत्री के छुए पैर, खाकी की साख दांव पर

झाबुआ उपचुनाव: आचार संहिता उल्लंघन के मामले में भाजपा MLA गिरफ्तार, वोटिंग से पहले मचा सियासी बवाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 11:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...