• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP News: घाटे में हैं बिजली कंपनियां, मगर कंपनी के पैसे से चमकाया जा रहा मंत्री का बंगला

MP News: घाटे में हैं बिजली कंपनियां, मगर कंपनी के पैसे से चमकाया जा रहा मंत्री का बंगला

ऊर्जा मंत्री के बंगले को संवारने में हुआ लाखों का खर्च.

Bhopal News: ऊर्जा मंत्री के बंगले पर लाखों रुपये का खर्च मध्य क्षेत्र बिजली कंपनी ने किया हैं. यह राशि ऊर्जा मंत्री के निवास पर हेल्पलाइन नंबर के कंट्रोल रूम के नाम पर खर्च की गई है.

  • Share this:
भोपाल. मध्यप्रदेश (MP) में बिजली कंपनियां करोड़ों रुपये के घाटे में हैं. साल दर साल यह घाटा बढ़ रहा है. घाटा कम करने के लिए बिजली कंपनियां विद्युत नियामक आयोग को प्रस्ताव देकर बिजली की दरें बढ़ाने की मांग कर रही हैं. लेकिन उसी विभाग के मंत्री का बंगला चमकाने के लिए लाखों रुपये खर्च किए जा रहे हैं.

हाल ही में पावर मैनेजमेंट कंपनी ने 2629 करोड़ रुपये का घाटा दिखाकर इसकी भरपाई के लिए बिजली की दरों में 6.23 फीसदी वृद्धि की मांग विद्युत नियामक आयोग से की थी. घाटा कम करने के लिए प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रदुम्न सिंह तोमर खर्चों में कटौती करने और फिजूलखर्ची पर रोक लगाने की सलाह बिजली कंपनियों को दे चुके हैं. लेकिन हैरत वाली बात यह है अक्सर अपने स्वच्छता अभियान को लेकर सादगी का परिचय देने वाले प्रद्युम्न सिंह तोमर के राजधानी के सरकारी बंगले पर ही बिजली विभाग के लाखों रुपये  खर्च कर दिए गए.

मंत्री के बंगले की सजावट
जानकारी के मुताबिक ऊर्जा मंत्री प्रदुम्न सिंह तोमर के भोपाल स्थित सिविल लाइन में बने सरकारी आवास पर मध्य क्षेत्र बिजली कंपनी ने 60 लाख से ज्यादा रुपये कमरों के निर्माण और साज सजावट पर खर्च कर दिये हैं. ऊर्जा मंत्री प्रदुम्न सिंह तोमर ने भी माना है कि बिजली कंपनी की राशि से कमरों का निर्माण कराया गया है. हालांकि ऊर्जा मंत्री तर्क दे रहे हैं यह निर्माण स्थाई होगा और भविष्य में भी उसका इस्तेमाल हो सकेगा. ऊर्जा मंत्री के मुताबिक उनके सरकारी आवास पर कमरों की कमी थी. अधिकारियों के बैठने में मुश्किल आ रही थी. साथ ही लोगों की समस्याओं के निदान के लिए एक कंट्रोल रूम बनाया गया है. ये भी कंपनी के पैसे से बनाया गया है.

कांग्रेस ने किया सवाल
ऊर्जा मंत्री के सरकारी आवास पर लाखों रुपये खर्च कर निर्माण और सजावट करने पर कांग्रेस ने हमला बोला है. कांग्रेस प्रवक्ता के के मिश्रा ने कहा एक तरफ बिजली कंपनियां करोड़ों के घाटे में हैं. खुद ऊर्जा मंत्री फिजूलखर्ची पर रोक लगाने की बात करते हैं लेकिन अपने सरकारी घर पर लाखों रुपये खर्च करवा रहे हैं. ये मंत्री तोमर की दोहरी मानसिकता है.

हेल्पलाइन के नाम पर किसकी हेल्प
जानकारी के मुताबिक ऊर्जा मंत्री के बंगले पर लाखों रुपये मध्य क्षेत्र बिजली कंपनी ने खर्च किये हैं. यह राशि ऊर्जा मंत्री के निवास पर हेल्पलाइन नंबर के कंट्रोल रूम के नाम पर खर्च की गयी. लेकिन इस राशि से बने कमरों की सुख सुविधा का मजा अफसर ले रहे हैं. कुछ राशि सजावट पर भी खर्च की गई है. सवाल इस बात को लेकर है कि बिजली कंपनियां घाटा कम करने के लिए तरह-तरह के दिशा निर्देश जारी कर रही हैं. दूसरी तरफ मंत्री का बंगला सजाने के लिए लाखों रुपये खर्च किये जा रहे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज