नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान पर साध्वी प्रज्ञा ने मांगी माफी

साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर ने महात्‍मा गांधी के हत्‍यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्‍त बताया था, जिसको लेकर विवाद पैदा हो गया था.

News18 Madhya Pradesh
Updated: May 16, 2019, 9:42 PM IST
News18 Madhya Pradesh
Updated: May 16, 2019, 9:42 PM IST
राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी की गोली मार कर हत्‍या करने वाले नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाली साध्वी प्रज्ञा ने माफ़ी मांग ली है. बताया जा रहा है कि उन्होंने अपने बयान के लिए प्रदेश बीजेपी से माफ़ी मांगी है. साध्‍वी प्रज्ञा ने कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्‍त थे, देशभक्‍त हैं और देशभक्‍त रहेंगे.

दरअसल, इस मामले में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा है कि बीजेपी ने हमेशा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या की निंदा की है. उन्होंने खरगोन में न्यूज 18 से खास बातचीत करते हुए कहा कि जब साध्वी प्रज्ञा ने खेद प्रकट करते हुए माफी मांग ली है तो इसमें अब कुछ कहने की आवश्यकता नहीं है. बता दें कि साध्‍वी प्रज्ञा ने यह कहते हुए माफी मांगी है कि गोडेसे पर दिया गया बयान उनका निजी विचार था.



बीजेपी ने झाड़ा पल्‍ला
साध्वी प्रज्ञा के इस बयान के बाद एक बार फिर राजनीतिक भूचाल आ गया. इसको लेकर बीजेपी एक बार फिर से घिर गई. बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा के बयान से बीजेपी सहमत नहीं है. पार्टी उनके बयान की कड़ी निंदा करती है. इस मामले में पार्टी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से स्पष्टीकरण मांगेगी. बीजेपी प्रवक्‍ता ने कहा था कि उनको अपने इस बयान के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए.

यह भी पढ़ें- नाकामयाब इंसान था गांधी का हत्यारा गोडसे, हर जगह हुआ था फेल

कमल हासन ने दिया था विवादित बयान
नाथूराम गोडसे को लेकर बवाल तब मचा जब कमल हासन ने नाथूराम गोडसे को आजाद भारत का पहला हिंदू आतंकवादी करार दिया था. उनके इस बयान को लेकर काफी बवाल मचा था. साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर से कमल हासन के बयान पर प्रतिक्रिया मांगी गई थी. इसके बाद प्रज्ञा ने यह बयान देते हुए कहा कि गोडसे को आतंकवादी कहने वाले लोग अपने गिरेबां में झांक कर देखें. ऐसे लोगों को इस चुनाव में जवाब दिया जाएगा.
Loading...

इससे पहले भी साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर ने कई विवादित बयान दिए थे. उन्होंने अपने चुनाव अभियान के दौरान कांग्रेस नेता और प्रत्याशी दिग्विजय सिंह का नाम लिए बिना उन पर निशाना साधा था. प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि ऐसे आतंकी का समापन कीजिए. प्रज्ञा ठाकुर अपने चुनाव प्रचार अभियान के लिए सीहोर इलाके में थीं.

यह भी पढ़ें- गोडसे पर साध्वी के बयान की BJP ने की निंदा, कहा- सार्वजनिक तौर पर मांगें माफी
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...