भोपाल: नहीं लगेगा पिछली सरकार की योजना पर ब्रेक, संजीवनी क्लीनिक के लिये भर्ती प्रक्रिया तेज
Bhopal News in Hindi

भोपाल: नहीं लगेगा पिछली सरकार की योजना पर ब्रेक, संजीवनी क्लीनिक के लिये भर्ती प्रक्रिया तेज
पिछली सरकार की योजना संजीवनी क्लीनिक के लिये भर्ती प्रक्रिया तेज (फाइल फोटो)

कमलनाथ सरकार के कार्यकाल में राइट टू हेल्थ योजना के तहत शुरू किए गए संजीवनी क्लीनिक प्रोजेक्ट (Sanjeevani Clinic Project) की संख्या अब तक जितनी बढ़नी चाहिए थी उतनी अब तक बढ़ नहीं पाई है.

  • Share this:
भोपाल. कोरोना की एंट्री के साथ ही मध्य प्रदेश में कई सारी गतिविधियों पर ब्रेक लग गया है. ब्रेक लगी तमाम चीजों में कमलनाथ सरकार के संजीवनी क्लीनिक (Sanjeevani Clinic) की योजना पर भी इसका असर देखने को मिला, जहां प्लान के मुताबिक इस साल प्रदेश में 88 संजीवनी क्लीनिक शुरू होने थे. वहीं प्रदेश में बदली राजनीतिक परिस्थितियों और लॉकडाउन के कारण अब तक सिर्फ 23 क्लीनिक ही खुल पाए हैं. अब जबकि अनलॉक फेज 1 की जून से शुरूआत हो गई है तो एनएचएम (NHM) ने भी भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर,सागर और उज्जैन में संजीवनी क्लीनिक के डॉक्टर्स की भर्ती प्रक्रिया को तेज कर दिया है. भर्ती को इंटरव्यू के जरिए करने के आदेश विभाग ने दे दिए हैं.

टेबलेट पर होगी मरीजों की जानकारी तभी मिलेगा इंसेंटिव
एनएचएम के पास संजीवनी क्लीनिक में वॉक इन इंटरव्यू के जरिए डॉक्टरों की भर्ती करने का जिम्मा है. इंटरव्यू में चयनित किए जाने वाले मेडिकल ऑफीसर्स को 25 हजार हर महीने सैलरी मिलती है. ड्यूटी के रोजाना 25 मरीजों से ज्यादा देखने पर 40 रुपए प्रति मरीज इंसेंटिव दिए जाने का भी विभाग का प्रावधान है. ऐसे में विभाग ने डॉक्टर को अधिकतम 75 हजार प्रतिमाह तक वेतन देने के आदेश दिए हैं. आदेशानुसार संभाग स्तर के जिलों में संजीवनी क्लीनिक के लिए सीएमएचओ इंटरव्यू लेकर डॉक्टर्स का सिलेक्शन करेंगे. संजीवनी क्लीनिक में डॉक्टर्स को टेबलेट पर हर मरीज की जानकारी दर्ज करना जरूरी होगा तभी डॉक्टरों को इलाज का इंसेंटिव मिल सकेगा.

क्लीनिक खोलने तैयारियां शुरू



कमलनाथ सरकार के कार्यकाल में राइट टू हेल्थ योजना के तहत शुरू किए गए संजीवनी क्लीनिक प्रोजेक्ट की संख्या अब तक जितनी बढ़नी चाहिए थी उतनी अब तक बढ़ नहीं पाई है. विभाग की प्लानिंग के अनुसार भोपाल में 28, इंदौर में 29, जबलपुर में 10, ग्वालियर- उज्जैन में 6-6, सागर में 5 और रीवा में 4 संजीवनी क्लीनिक पिछले महीने तक शुरू होने थे जो कोरोना के कारण लॉकडाउन में शुरू हो नहीं पाए. लेकिन अब भर्ती के आदेश जारी करने के बाद राजधानी के वार्ड 12 में नारियल खेडा, वार्ड 7 में खानूगांव और सुभाष नगर में अगले हफ्ते तक क्लीनिक शुरू करने की तैयारियां चल रहीं हैं.



ये भी पढ़ें: Unlock 1.0 पर सियासत: कमलनाथ बोले- बिजली उपभोक्ताओं के पूरे बिल किये जाएं माफ


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading