अपना शहर चुनें

States

भोपाल में तांडव का विरोध: वेब सीरीज से बढ़ रहा आक्रोश, मंत्री ने केंद्रीय मंत्री को लिखा ये पत्र

तांडव वेब सीरीज पर मंत्री सारंग ने लिखा जावड़ेकर को पत्र. (File Photo)
तांडव वेब सीरीज पर मंत्री सारंग ने लिखा जावड़ेकर को पत्र. (File Photo)

मंत्री सारंग ने अपने पत्र में लिखा- देश में ओटीटी प्लेटफॉर्म के चलन से लगातार वेब सीरीज का निर्माण किया जा रहा है. ऐसे प्लेटफॉर्मों पर फिल्में और वेब सीरीज सेक्स, हिंसा, मादक पदार्थ, घृणा और अश्लीलता से भरी हुई होती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2021, 3:24 PM IST
  • Share this:
भोपाल: वेब सीरीज तांडव पर देशभर में जारी विरोध के बीच मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री  प्रकाश जावड़ेकर  व अमेजन को पत्र लिखा है. उन्होंने अमेजन को चेतावनी भी दी है कि अगर तत्काल उसने अपने OTT प्लेटफॉर्म से तांडव को नहीं हटाया तो अमेजन ऑनलाइन शॉपिंग का भी बहिष्कार किया जाएगा.

मंत्री सारंग ने अपने पत्र में लिखा- देश में ओटीटी प्लेटफॉर्म के चलन से लगातार वेब सीरीज का निर्माण किया जा रहा है. ऐसे प्लेटफॉर्मों पर फिल्में और वेब सीरीज सेक्स, हिंसा, मादक पदार्थ, घृणा और अश्लीलता से भरी हुई होती हैं. इतना ही नहीं ये फिल्में और वेब सीरीज हिंदू धार्मिक भावनाओं को भी लगातार चोट पहुंचा रही हैं.

धार्मिक भावनाओं का अपमान किया



उन्होंने लिखा- ऐसा ही अभी हाल में अमेजन वीडियो प्राइम पर तांडव वेब सीरीज आई है. जिसमें निर्माताओं ने जानबूझकर हिंदू देवताओं का मजाक उड़ाया है और हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं का अपमान किया है. यह पहली बार नहीं हो रहा है. अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर लगातार हिंदुओं की भावनाओं पर चोट पहुंचाई जा रही है. तांडव वेब सीरीज में न सिर्फ देवताओं का मजाक उड़ाया जा रहा है बल्कि यह दलित विरोधी और हिंदुओं के खिलाफ सांप्रदायिक घृणा से भरी हुई है.
वेब सीरीज के नियंत्रण के लिए ठोक कानून बनाएं

हिंदू धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने वाली ऐसी फिल्में या वेब सीरीज और ओटीटी प्लेटफॉर्म के नियंत्रण के लिए अभी कोई ठोस कानून नहीं है न ही ये सेंसर बोर्ड से पास होती है. जिसके कारण कुछ लोग जानबूझकर हिंदू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाने वाली फिल्में और वेब सीरीज का निर्माण कर रहे हैं. अतः आपसे अनुरोध है कि तांडव वेब सीरीज पर तत्काल रोक लगाई जाए और ओटीटी प्लेटफॉर्म व इन पर चल रही फिल्में और वेब सीरीज के नियंत्रण के लिए ठोक कानून बनाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज