पोस्टर में राहुल गांधी को दिखाया 'शिवभक्त', मच गया सियासी घमासान

एमपी में राहुल का ये पहला चुनावी दौरा है. इसमें वो कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे साथ ही मध्य प्रदेश में कांग्रेस के चुनाव अभियान का शंखनाद भी करेंगे

Makarand Kale | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 15, 2018, 7:21 PM IST
पोस्टर में राहुल गांधी को दिखाया 'शिवभक्त', मच गया सियासी घमासान
भोपाल
Makarand Kale | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 15, 2018, 7:21 PM IST
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 17 सितंबर को भोपाल आ रहे हैं. इसी मद्देनजर पूरे भोपाल में राहुल गांधी के पोस्टर बैनर लगाए गए हैं. खास बात ये है कि इन पोस्टर्स में राहुल गांधी को शिवभक्त राहुल गांधी बताया गया है. एमपी में राहुल का ये पहला चुनावी दौरा है. इसमें वो कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे साथ ही मध्य प्रदेश में कांग्रेस के चुनाव अभियान का शंखनाद भी करेंगे, ज़ाहिर है शिवभक्त के तौर पर राहुल को प्रोजेक्ट करना चुनाव के नज़रिए से भी अहम है.

दरअसल, मध्य प्रदेश की आबादी में हिंदू बहुसंख्यक है. गुजरात और कर्नाटक की तर्ज पर मध्य प्रदेश में भी राहुल गांधी को हिंदू धर्म को मानने वाले नेता के तौर पर प्रोजेक्ट किया जा रहा है. कांग्रेस की इसके पीछे की मंशा भी साफ है. कांग्रेस को हमेशा मुस्लिमों का तुष्टीकरण करने वाली पार्टी के तौर पर बीजेपी प्रोजेक्ट करती आई है. इस छवि को तोड़ने की कोशिश में कांग्रेस भी लंबे वक्त से लगी है.

वहीं राहुल गांधी को शिवभक्त लिखे जाने को लेकर दोनों पार्टियों में घमासान फिर से शुरू हो गया है. मामले में बीजेपी का कहना है कि विकास के मामले में कांग्रेस को वोट नहीं मिलने वाले लिहाज़ा अलग अलग तरह के हथकंडे अपनाकर कांग्रेस वोट हासिल करना चाहती है, जिसमें वो कभी सफल नहीं हो सकेगी.

वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने पलटवार किया कि बीजेपी को बर्दाश्त नहीं होता कि कांग्रेस हिंदू धर्म की बात करे. बीजेपी ने हिंदू धर्म का ठेका नहीं ले रखा. कांग्रेस धर्मप्रेमी पार्टी है, बीजेपी धर्म का राजनैतिक इस्तेमाल करती है लेकिन कांग्रेस धर्म से प्रेम करने वाला राजनैतिक दल है.

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 17 सितंबर को मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में रोड शो करेंगे. रोड शो भोपाल के लालघाटी से शुरू होकर भेल के दशहरा मैदान तक होगा. इसके बाद दशहरा मैदान में कार्यकर्ताओं का सम्मेलन होगा जिसमें राहुल गांधी कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद करेंगे.

ये भी पढ़ें- दिग्विजय सिंह बोले- RSS से बुलावा नहीं, अगर आया तो पूछूंगा ये सवाल
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर