Home /News /madhya-pradesh /

...इस वजह से राहुल गांधी मध्य प्रदेश में कम जन सभाएं करेंगे

...इस वजह से राहुल गांधी मध्य प्रदेश में कम जन सभाएं करेंगे

राहुल गांधी (फाइल फोटो)

राहुल गांधी (फाइल फोटो)

विधानसभा चुनावों में कांग्रेस और बीजेपी के स्टार प्रचारक दोनों दलों के अध्यक्ष ही होंगे. हालांकि इस बार कांग्रेस राहुल गांधी को अमित शाह की तुलना में कम प्रोजेक्ट करने के मूड में है

साल के अंत में मध्य प्रदेश सहित 4 राज्यों में विधानसभा चुनाव हैं. चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी ही कांग्रेस के स्टार प्रचारक होंगे. प्रदेश कांग्रेस उनका प्रोग्राम तैयार कर रही है. इनमें रैली, सभा, रोड-शो सब होंगे. बताया जा रहा है राहुल के दौरों में जनसभा कम और रोड शो और कार्यकर्ता सम्मेलन ज़्यादा होंगे.

विधानसभा चुनावों में कांग्रेस और बीजेपी के स्टार प्रचारक दोनों दलों के अध्यक्ष ही होंगे. हालांकि इस बार कांग्रेस राहुल गांधी को अमित शाह की तुलना में कम प्रोजेक्ट करने के मूड में है. दरअसल एमपी के अलावा राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिज़ोरम में चुनाव होने हैं. और राहुल एमपी से ज्यादा दूसरे राज्यों में फोकस करने के मूड में हैं. इस बार कांग्रेस ने कार्यप्रणाली में बदलाव भी किया है. दरअसल कमलनाथ प्रदेश में कार्यकर्ताओं को मोबिलाइज़ करने पर ज़्यादा फोकस कर रहे हैं. इसलिए पार्टी का सोचना है कि अब राहुल गांधी की ज़रूरत सिर्फ कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए पड़ेगी. लिहाज़ा पब्लिक मीटिंग से ज़्यादा राहुल कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में हिस्सा लेंगे.

ख़बर ये भी है कि राहुल गांधी का दौरा 15 सितंबर तक टल सकता है. राहुल 3 किश्तों में प्रदेश का दौरा करेंगे. शुरुआत ओंकारेश्वर से ही होगी. उसके बाद अगला चरण बुंदेलखंड में होगा. ज़्यादातर रोड-शो और कार्यकर्ता सम्मेलन होंगे. जनसभाओं की संख्या कम होगी. पार्टी हाईकमान पीसीसी के साथ समन्वय से पूरा कार्यक्रम तय करेगा.

राहुल गांधी की रैलियों से गुजरात और कर्नाटक में कांग्रेस को फायदा हुआ था. लेकिन मध्यप्रदेश में कमलनाथ प्रमुख रणनीतिकार के तौर पर काम कर रहे हैं लिहाज़ा राहुल गांधी का किस तरह से और किस लिमिट में उपयोग करना है वो बेहतर तरीके से जानते हैं.

ये भी पढ़ें - दिग्विजय सिंह को लेकर कुछ ज़्यादा ही तल्ख़ है शिवराज सरकार !

कहां हैं कमलनाथ, घोषणा पत्र समिति की बैठक में भाग लेने नहीं पहुंचे दिल्ली!

Tags: Rahul gandhi

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर