• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • हरदा Train tragedy: 'प्रभु' की लीला, घायलों से मिलने के नाम पर फाइव स्‍टार होटल में बिता आए 5 घंटे

हरदा Train tragedy: 'प्रभु' की लीला, घायलों से मिलने के नाम पर फाइव स्‍टार होटल में बिता आए 5 घंटे

केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु और रेल राज्‍यमंत्री मनोज सिन्‍हा बुधवार को दिल्‍ली से निकले तो थे मध्‍य प्रदेश के हरदा में हुए रेल हादसे के घटनास्‍थल का जायजा लेने, लेकिन वे भोपाल के फाइव स्‍टार होटल में पांच घंटे बिताकर लौट आए.

केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु और रेल राज्‍यमंत्री मनोज सिन्‍हा बुधवार को दिल्‍ली से निकले तो थे मध्‍य प्रदेश के हरदा में हुए रेल हादसे के घटनास्‍थल का जायजा लेने, लेकिन वे भोपाल के फाइव स्‍टार होटल में पांच घंटे बिताकर लौट आए.

केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु और रेल राज्‍यमंत्री मनोज सिन्‍हा बुधवार को दिल्‍ली से निकले तो थे मध्‍य प्रदेश के हरदा में हुए रेल हादसे के घटनास्‍थल का जायजा लेने, लेकिन वे भोपाल के फाइव स्‍टार होटल में पांच घंटे बिताकर लौट आए.

  • Share this:
    केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु और रेल राज्‍यमंत्री मनोज सिन्‍हा बुधवार को दिल्‍ली से निकले तो थे मध्‍य प्रदेश के हरदा में हुए रेल हादसे के घटनास्‍थल का जायजा लेने, लेकिन वे भोपाल के फाइव स्‍टार होटल में पांच घंटे बिताकर लौट आए.

    रेलमंत्री ने राज्‍यसभा में सांसदों को भरोसा दिया था कि वे घटना स्‍थल पर जाएंगे और पीड़ितों का दर्द भी बांटने की कोशिश करेंगे.

    देश में पहली बार एक जगह पर दो ट्रेनों के पटरियों से उतरने की घटना का जायजा लेने के लिए रेल मंत्री सुरेश प्रभु और राज्य मंत्री मनोज सिन्हा बुधवार को विमान से दोपहर तीन बजे भोपाल आए.

    यहां उन्हें रेल अफसरों ने बताया कि हरदा में पानी बरस रहा है और मौसम भी खराब है. इस जानकारी के आधार पर दोनों मंत्री होटल नूर उस सबाह होटल चले गए. यहां उन्होंने फोन पर ही अधिकारियों से बातचीत की. हरदा से लौटकर आए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात के बाद शाम को हरदा न जाने का फैसला लिया और रात नौ बजे विमान से दिल्ली लौट गए.

    भगवान की शरण में प्रभु

    मीडिया से रूबरू होने पर रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हरदा ट्रेन हादसे में रेल विभाग की लापरवाही को मानने से साफ इंकार कर दिया. इन आरोपों को खारिज करते हुए रेल मंत्री ने कहा कि यह आरोप बेबुनियाद है क्योंकि यह हादसा एक प्राकृतिक आपदा है. उन्होंने कहा कि भारी बारिश से मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात और उड़ीसा जैसे राज्यों में बाढ़ के हालात बनें हुए हैं इसके लिए तो बस भगवान से ही दुआ की जा सकती है.

    नाले में अचानक आई बाढ़ से हुआ हादसा

    रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हादसे के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि यह हादसा किसी की लापरवाही से नहीं बल्कि नाले में अचानक आई बाढ़ से हुआ है. उन्होंने कहा कि भारी बारिश के कारण नाले का जलस्तर काफी बढ़ गया था. तेज बहाव के इस पानी के कारण ट्रेक के नीचे की मिट्टी का कटाव हो गया जिससे ट्रेक का सपोर्ट खत्म हो गया. इसी वजह से जब कामायनी और जनता एक्सप्रेस उस पर से गुजरी तो दोनों ट्रेनों के कई डब्बे पानी में समा गए.

    दिग्विजय सिंह पर कसा ताना

    दिग्विजय सिंह ने हरदा रेल हादसे पर ट्वीट करते हुए रेल मंत्री सुरेश प्रभू को शास्त्री जी का उदाहरण देते हुए इस्तीफा देने की मांग की थी. इस बात पर सुरेश प्रभु ने प्रतिक्रिया देते हुए, दिग्विजय सिंह पर ताना कसते हुए कहा कि 'दिग्विजय सिंह का स्तर तो भगवान के समान पहुंच गया है, तो ऐसे व्यक्ति की बात पर हम भला क्या कह सकते हैं. उनकी बात का तो हम सभी को सम्मान करना चाहिए.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज