Weather Alert: बादलों के बीच 6 संभागों में बूंदाबांदी के आसार, रायसेन में पारा 39.8 डिग्री, जानिए MP का हाल

मध्य प्रदेश के कई संभाग आने वाले दिनों में भीगेंगे. मौसम विभाग ने हल्की बारिश की संभावना जताई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मध्य प्रदेश के कई संभाग आने वाले दिनों में भीगेंगे. मौसम विभाग ने हल्की बारिश की संभावना जताई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

MP Weather Alert: मौसम विभाग ने कहा है कि 6 संभागों में हल्की बारिश हो सकती है. बादल छाएं रहेंग, लेकिन तपिश भी बनी रहेगी. पिछले कुछ दिनों से करीब-करीब पूरे प्रदेश में बादल छाए हुए हैं.

  • Last Updated: June 6, 2021, 2:28 PM IST
  • Share this:

भोपाल. प्रदेश में प्री-मानसून की आहट भी है और मौसम गर्म भी है. भोपाल के साथ ही करीब-करीब पूरे प्रदेश में रविवार को हल्के बादल छाए हुए हैं. मौसम विभाग ने प्रदेश के 6 संभागों में हल्की बूंदाबांदी की संभावना जताई है. मौसम विभाग का कहना है कि हवाओं के दक्षिण-पश्चिम रुख की वजह से बादल छाए हुए हैं. इस बीच रायसेन में पारा 39.8 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है.

मौसम विभाग ने बताया कि बादलों की कम ऊंचाई के कारण हल्की हल्की बौछारें पड़ने की संभावना है. रविवार और सोमवार को बादल छाने के साथ-साथ हल्की बूंदाबांदी हो सकती है. विभाग ने भोपाल, सागर, जबलपुर, होशंगाबाद, ग्वालियर, चंबल और इंदौर संभाग के जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना जताई है.

इन जिलों में इतनी बारिश

बीते चौबीस घंटों में बैतूल में 36.2 मिमी, सीधी में 17.6 मिमी, पचमढ़ी में 14.6 मिमी, धार में 15.7 मिमी, सतना में 2 मिमी, खजुराहो में 9.2 मिमी, मंडला में 1 मिमी, जबलपुर में 1.2 मिमी, उमरिया में 1.2 मिमी, रतलाम में 1 मिमी, छिंदवाड़ा में 0.4 मिमी बारिश दर्ज की गई.
शहरों का अधिकतम तापमान

भोपाल में 34.7 डिग्री, बैतूल में 35.5 डिग्री, ग्वालियर में 38.7 डिग्री, इंदौर में 30.6 डिग्री, रायसेन में 39.8 डिग्री, सतना में 37.4 डिग्री, खजुराहो में 38.2 डिग्री, मंडला में 37 डिग्री, नरसिंहपुर-नौगांव में 39 डिग्री, जबलपुर में 31.6 डिग्री, सागर में 33 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया.

सीजन में दूसरी बार सबसे कम तापमान भोपाल में  दर्ज



भोपाल में शनिवार की सुबह से शाम तक बादलों का डेरा था. इस वजह से लोगों को तपिश का अहसास भी नहीं हुआ. दिन का तापमान 2.8 डिग्री लुढ़क कर 34.7 डिग्री रिकॉर्ड किया गया, जो सामान्य से 5 डिग्री कम रहा. सीजन में दूसरी बार सबसे कम तापमान राजधानी भोपाल में दर्ज हुआ.

ये है देश का हाल

दक्षिण पश्चिम मानसून (Monsoon) के अगले दस दिनों में ओडिशा, झारखंड, पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों और बिहार में पहुंचने का अनुमान है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) ने कहा कि दक्षिण पश्चिम मानसून मध्य अरब सागर, कर्नाटक के तटीय क्षेत्रों, गोवा, महाराष्ट्र के कुछ हिस्से, कर्नाटक के अंदरूनी हिस्से, तेलंगाना के कुछ हिस्से और आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु के कुछ हिस्सों, मध्य बंगाल की खाड़ी और बंगाल की खाड़ी के पूर्वोत्तर हिस्सों तक पहुंच चुका है.

मौसम विभाग के मुताबिक पंजाब और उसके आसपास के इलाकों में चक्रवाती हवाओं को असर अभी भी देखा जा सकता है. कर्नाटक तट के पास पूर्वी मध्य अरब सागर के ऊपर चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना है, जिसके कारण मौसम में तेजी से बदलाव देखने को मिल रहा है. मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण-पश्चिम मानसून कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश के साथ ही महाराष्‍ट्र में भी जल्‍द दस्‍तक दे सकता है. महाराष्‍ट्र के मुंबई में अभी से मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है. महाराष्‍ट्र में 11 जुलाई तक मानसून के पहुंचने की संभावना जताई गई है. हालांकि मानसून से पहले ही राज्‍य के कई शहरों में हल्‍की से मध्‍यम बारिश शुरू हो चुकी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज