लाइव टीवी
Elec-widget

मध्य प्रदेश में भारी बारिश और महंगाई ने बिगाड़ा सब्जियों का ज़ायका

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 15, 2019, 7:34 PM IST
मध्य प्रदेश में भारी बारिश और महंगाई ने बिगाड़ा सब्जियों का ज़ायका
पिछले डेढ़ महीने में सब्जियों के दामों में बेतहाशा वृद्धि हुई है

प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) में सब्जी (Vegetables) के बढ़े हुए दामों ने रसोई का बजट बिगाड़ दिया है. महंगी हो रही सब्जियों की खरीददारी भी कम हो रही है यानि सब्जी वालों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, और ये स्थिति पिछले करीब डेढ़ महीने से है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में प्याज (Onion) एक तरफ जहां लोगों की आखों से आंसू निकाल रही हैं, वहीं दूसरी सब्जियों के दाम भी आसमान छू रहे हैं. सब्जियों की कम आवक के चलते इस बार सब्जियों के बढ़े हुए दामों ने लोगों की रसोई (Kitchen) का बजट बिगाड़ दिया है. वहीं खाने का स्वाद भी बिगड़ रहा है. करीब एक से डेढ़ महीने से सब्जियों के बढ़े हुए दामों से लोग परेशान हैं. कम खरीददारी से सब्जी वाले परेशान हैं तो सरकार द्वारा खोली गई सस्ती कीमत पर प्याज की दुकान महज़ एक दिन लोगों को राहत दे पाई, यानी सब्जी को लेकर राजधानी के लोगों की परेशानी जल्दी कम होने वाली नहीं है.

ज्यादा बारिश से बढ़े सब्जियों के दाम
मप्र में इस बार रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई है, जिसके बाद से सब्जियों के दाम लगातार बढ़े हुए हैं. ठंड का मौसम आते ही लोगों को इंतजार था कि शायद अब तो सब्जियों के बढ़े हुए दामों से राहत मिले, लेकिन अब तक दाम कम नहीं हुए हैं. सब्जी विक्रेता फैजान कुरैशी का कहना है कि बारिश की वजह से सब्जियों को काफी नुकसान हुआ है. जिसके चलते मप्र के बाहर से ही सब्जियां आ रही हैं. बाहरी राज्यों से सब्जियों के आने से दाम आसमान छू रहे हैं. अब जब तक नई सब्जियों की आवक नहीं होगी तब तक सब्जियों के दाम कम होने के आसार नहीं हैं. हालांकि फैजान का कहना है कि सब्जियों के बढ़े हुए दामों ने ग्राहकी भी कम कर दी है. यानि जहां पहले लोग दो से तीन किलो टमाटर ले जाते थे. वहीं अब आधा किलो टमाटर से काम चला रहे हैं. लोग अब लिमिट में सब्जियां खरीद रहे हैं, जिससे सब्जी वालों का भी नुकसान हो रहा है.

सरकार ने लगाए थे प्याज के स्टॉल

राज्य सरकार ने प्याज के बढ़ते हुए दामों को लेकर प्याज के चुनिंदा बाजारों में स्टॉल लगाए थे, जिसमें प्याज 50 रूपए किलो बेची गई थी, लेकिन आज वो राहत भी दिखाई नहीं दी, यानि बिट्टन मार्केट में प्याज का सरकारी स्टॉल कहीं दिखाई ही नहीं दिया. स्टॉल पर लिमिट रखी गई थी कि लोग केवल एक या सिर्फ दो किलो ही प्याज खरीद सकते हैं, लेकिन प्याज का स्टॉल भी महज एक दिन ही दिखा, जिससे लोग इस राहत को सही तरह से महसूस भी नहीं कर पाए.

ये भी पढ़ें -
मध्य प्रदेश में भारी बारिश और महंगाई ने बिगाड़ा सब्जियों का ज़ायका
Loading...

PHOTOS : इंदौर के ज़ायके के फैन हुए VVS लक्ष्मण, लिखा-कभी पोहे से तीखे-कभी जलेबी से मीठे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 7:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...