Home /News /madhya-pradesh /

Rani Kamlapati Railway Station: एक जगह पूरा शहर, कहीं जाने की जरूरत नहीं, यहीं मिलेगा सब

Rani Kamlapati Railway Station: एक जगह पूरा शहर, कहीं जाने की जरूरत नहीं, यहीं मिलेगा सब

रानी कमलापति रेलवे स्टेशनन पर एक पूरा शहर बस जाएगा. यहां आने के बाद कहीं और जाने की जरूरत नहीं होगी.

रानी कमलापति रेलवे स्टेशनन पर एक पूरा शहर बस जाएगा. यहां आने के बाद कहीं और जाने की जरूरत नहीं होगी.

World Class Rani Kamlapati Railway Station: रानी कमलापति रेलवे स्टेशन को वाकई हटकर बनाया गया है. इसमें प्रवेश करने के बाद फिर कहीं और जाने की जरूरत नहीं होगी. आपको जो चाहिए यहीं मिलेगा. यहां आप शॉपिंग करें, फूड जोन का मजा लें, ज्यादा ही बोर हो रहे हों तो सिनेमा हॉल चले जाएं. यानी, एक जगह पूरा शहर आपको यहीं मिल जाएगा. रानी कमलापति से पहले इस रेलवे स्टेशन का नाम हबीबगंज था. इसका रीडेवलपमेंट जर्मनी की हेडलबर्ग रेलवे स्टेशन की तर्ज पर हुआ है. इसके बाद इसे नया नाम भी दे दिया गया.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में देश के पहले ISO सर्टिफाइड रानी कमलापति रेलवे स्टेशन पर एक ही जगह सभी फाइव स्टार सुविधाएं मिलेंगी. यहां आकर आपको कहीं और जाने की जरूरत नहीं होगी. यहां सिनेमा घर, शॉपिंग मॉल, फाइव स्टार होटल, सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल जैसी सुविधाएं मिलेंगी. 15 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रानी कमलापति रेलवे स्टेशन का उद्घाटन किया है. देश के पहले वर्ल्ड क्लास हबीबगंज स्टेशन को पूरी तरह से री- डेवलप कर नया नाम दिया गया. इसका रीडेवलपमेंट जर्मनी की हेडलबर्ग रेलवे स्टेशन की तर्ज पर हुआ है.

जानकारी के मुताबिक, 350 करोड़ से स्टेशन परिसर में सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल, सिनेमा घर, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, फाइव स्टार होटल का निर्माण किया जा रहा है। रेलवे ट्रैक के ऊपर डोम के आकार का एयर कॉन्कोर बनाया गया है. यहां 1100 यात्रियों के बैठने की व्यवस्था की गई है. यहां दो साल पहले दो अंडरग्राउंड सब-वे चालू कर दिए गए थे. इन्हें प्लेटफॉर्म्स से जोड़ा गया है. ट्रेनों से उतरने वाले यात्री सीधे इन सब-वे से बाहर निकल जाते हैं.

रेलवे स्ट्रेशन मेट्रो से भी जोड़ा जाएगा

दूसरी ओर, इस वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन को भोपाल मेट्रो से भी जोड़ा जाएगा. इससे जनता रेलवे स्टेशन से बाहर आते ही जहां चाहेगी जा सकेगी. साल 2018 में भोपाल और इंदौर में मेट्रो प्रोजेक्ट शुरू हुआ था. साल 2022 तक इस प्रोजेक्ट को पूरा करना था. लेकिन, अब इसे पूरा करने के लिए अगस्त 2023 तक का लक्ष्य रखा गया है. भोपाल मेट्रो प्रोजेक्ट की कुल लागत 6 हजार 941 करोड़ और इंदौर मेट्रो रेल प्रोजेक्ट की कुल लागत 7 हजार 580 करोड़ है. भोपाल में पहला रूट 14.19 और दूसरा रूट 12.88 किलोमीटर का होगा. सबसे पहले एम्स से करोंद रूट पर तेजी से काम चल रहा है. भोपाल में मेट्रो के कुल 6 रूट होंगे. दूसरा भदभदा से रत्नागिरी तिराहा रूट पर भी जल्द काम शुरू होगा.

ये होंगे रूट

एम्स से करोंद रूट: पर्पल लाइन नाम के इस रूट पर दो स्टेशन अंडरग्राउंड रहेंगे. मेट्रो का रूट भोपाल रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड के नजदीक से गुजरेगा. यहां मेट्रो का ट्रैक अंडरग्राउंड होगा. इसमें 16 स्टेशन होंगे. यह स्टेशन करोंद चौराहा, कृषि उपज मंडी, डीआईजी बंगला, सिंधी कॉलोनी, नादरा बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, भारत टॉकीज, पुल बोगदा, ऐशबाग स्टेडियम के पास, सुभाष नगर अंडरपास के पास, मैदा मिल केंद्रीय विद्यालय, एमपी नगर, सरगम सिनेमा, हबीबगंज कॉम्प्लेक्स, अलकापुरी और एम्स होंगे. 2. भदभदा से रत्नागिरी तिराहा रूट: रेड लाइन नाम के इस रूट के सभी स्टेशन जमीन के ऊपर होंगे. इसमें 14 स्टेशन होंगे. यह स्टेशन भदभदा चौराहा, डिपो चौराहा, जवाहर चौक, रंगमहल टॉकीज, रोशनपुरा चौराहा, मिंटो हॉल, लिली टॉकीज, जिंसी, बोगदा पुल, प्रभात चौराहा, गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया, इंद्रपुरी, पिपलानी और रत्नागिरी तिराहा होंगे.

Tags: Bhopal news, Mp news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर