अपना शहर चुनें

States

BJP के बागी विधायक की 'घर वापसी', बोले- मैं कांग्रेस में कभी गया ही नहीं था

बीजेपी में वापस न आने की कसम खाने वाले विधायक नारायण त्रिपाठी लौटे.
बीजेपी में वापस न आने की कसम खाने वाले विधायक नारायण त्रिपाठी लौटे.

गंगाजल-तुलसी उठाकर बीजेपी में वापस न आने की कसम खाने वाले विधायक नारायण त्रिपाठी (MLA Narayan Tripathi) ने एक बार फिर पाला बदल लिया है. बीजेपी के पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Former Minister Narottam Mishra) और प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह (BJP State President Rakesh Singh) की उपस्थिति में वह फिर भाजपा में लौट आए हैं. इस दौरान त्रिपाठी ने कहा कि वो कभी कांग्रेस में नहीं गए थे.

  • Share this:
भोपाल. मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी (MLA Narayan Tripathi) ने एक बार फिर बड़ा उलटफेर करते हुए पाला बदल लिया है. मंगलवार को चौंकाने वाले घटनाक्रम में त्रिपाठी बीजेपी के पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Former Minister Narottam Mishra) के साथ बीजेपी प्रदेश कार्यालय पहुंचे और ऐलान कर दिया कि वो बीजेपी में थे और हमेशा बीजेपी में रहेंगे. इस दौरान उन्‍होंने बीजेपी प्रदेश कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह (BJP State President Rakesh Singh) और बीजेपी के प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत से मुलाकात की. इसके बाद राकेश सिंह और नरोत्तम मिश्रा के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए मीडिया के सामने पहुंचे. त्रिपाठी ने कहा कि वो कभी कांग्रेस में नहीं गए थे. केवल मैहर के विकास के लिए उन्होंने सीएम कमलनाथ (CM Kamal Nath) से मुलाकात की थी. जबकि राकेश सिंह ने त्रिपाठी के बीजेपी में वापस आने के मुद्दे पर कहा कि कांग्रेस ने प्रलोभन देकर बीजेपी के विधायकों को अपने पाले में करने की कोशिश की थी, लेकिन वो इस कोशिश में नाकाम रहे.

तब कही थी ये बात
आपको बता दें कि बीजेपी के दो विधायक नारायण त्रिपाठी और शरद कोल मानसून सत्र के दौरान एक विधेयक पर वोटिंग के दौरान कांग्रेस के पाले में चले गए थे. तब नारायण त्रिपाठी ने न्यूज़ 18 से बात करते हुए बीजेपी पर कई तरह के सवाल उठाए थे. उन्‍होंने यहां तक कह दिया था कि वो गंगाजल-तुलसी उठाकर ये कह सकते हैं कि बीजेपी में वापस नहीं लौटेंगे. हालांकि मंगलवार को जब बीजेपी में लौटने के बाद न्यूज़ 18 ने उनसे फिर ये सवाल किया तो वो तिलमिला गए.

नारायण त्रिपाठी करते रहे हैं दल बदल
मध्य प्रदेश के मैहर से विधायक नारायण त्रिपाठी पार्टी बदलने के लिए मशहूर हो चुके हैं. बीजेपी में शामिल होने से पहले नारायण त्रिपाठी समाजवादी पार्टी में थे. समाजवादी पार्टी से बीजेपी में आए नारायण त्रिपाठी मानसून सत्र के आखिरी दिन कांग्रेस के पाले में चले गए थे. यही नहीं उन्‍होंने ने सीएम कमलनाथ के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस सरकार की जमकर उपलब्धियां गिनाई थीं और ये ऐलान किया था कि वो अब कभी बीजेपी में वापस नहीं लौटेंगे. हालांकि 15 अक्टूबर को उन्होंने फिर पाला बदलते हुए बीजेपी का दामन थाम लिया. बीजेपी से कांग्रेस के पाले में जाने के बावजूद भी नारायण त्रिपाठी ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण नहीं की थी.



दो विधायकों ने बदला था पाला
जुलाई में मानसून सत्र के आखिरी दिन मध्य प्रदेश विधानसभा में सीएम कमलनाथ और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के बीच हुई तकरार के बाद दिलचस्प घटनाक्रम हुआ था. सत्र खत्म होने के कुछ घंटे पहले ही बीएसपी विधायक संजू सिंह ने एक विधेयक पर मतविभाजन की मांग कर दी. वोटिंग के दौरान बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी और शरद कोल ने क्रॉस वोटिंग की थी और कांग्रेस में शामिल होने का ऐलान किया था.

ये भी पढ़ें-

मैग्नीफिसेंट MP में पेश की जाएगी स्वास्थ्य निवेश नीति, निजी अस्‍पताल खोलने पर मिलेगी 50 फीसदी सब्सिडी

बेटी की मौत के बाद परिवार ने स्‍कूल में बांटी चॉकलेट और टॉफियां, जानिए असली कहानी...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज