MP के इस अस्पताल ने देश में सबसे ज्यादा कोरोना मरीज को स्वस्थ करने का किया दावा
Bhopal News in Hindi

MP के इस अस्पताल ने देश में सबसे ज्यादा कोरोना मरीज को स्वस्थ करने का किया दावा
चिरायु अस्पताल ने देश में सबसे ज्यादा कोरोना मरीज को ठीक करने का दावा किया

राजधानी भोपाल के चिरायु अस्पताल (Chirayu Hospital) की तरफ से दावा किया गया है कि 1020 कोरोना पॉजिटिव मरीजों को स्वस्थ करने वाला यह देश का पहला अस्पताल बन गया है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने भी अस्पताल की तारीख की है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
भोपाल. एमपी के चिरायु अस्पताल (Chirayu Hospital) में कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मरीजों को स्वस्थ करने का रिकॉर्ड बनाया है. सबसे ज्यादा मरीजों को स्वस्थ करने का यह रिकॉर्ड राजधानी भोपाल के चिरायु अस्पताल का है. अस्पताल की तरफ से दावा किया गया है कि चिरायु अस्पताल 1020 पॉजिटिव मरीजों (one Thousand and twenty Patients) को स्वस्थ करने वाला देश का पहला अस्पताल बन गया है. एक कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने भी अस्पताल और उसके प्रबंधन की तारीख की है.

स्वास्थ्य मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा भोपाल के कोविड 19 सेंटर चिरायु अस्पताल में पहुँचे. उन्होंने कोरोना से स्वस्थ हुए लोंगों और अस्पताल में ड्यूटी करने वालों का सम्मान किया. आज चिरायु अस्पताल से 108 मरीज़ डिस्चार्ज हुए. चिरायु मेडिकल कॉलेज से अब तक एक हजार से ज्यादा मरीज डिस्चार्ज हो चुके है.

स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने की तारीफ



कार्यक्रम में पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अस्पताल के मालिक और उसके पूरे प्रबंधन की जमकर तारीफ की उन्होंने कहा कि संकट की घड़ी में अस्पताल ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और उसने स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार को संबल दिया है. उन्होंने कहा कि अस्पताल प्रबंधन ने कड़ी मेहनत और हौसला दिखाते हुए 1000 से ज्यादा कोरोना वायरस मरीज को ठीक किया है. नरोत्तम मिश्रा ने यह भी कहा कि कोरोना ने मानसिक रूप से लोगों को नुकसान पहुंचाया है. हमें अपना मनोबल बनाकर रखना चाहिए, उसे कभी कमजोर नहीं होने देना चाहिए.



नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि नरेंद्र मोदी जी ने जनता को लड़ने के लिए खड़ा किया. हम सुरक्षित हो गए हैं. एक जगह से 1000 से ज्यादा पॉजिटिव मरीज स्वस्थ होने का रिकॉर्ड बना है. उन्होंने कहा कि अस्पताल के मालिक अमर हो गए. ये अभियान एवरेस्ट की चोटी फतह करने जैसा है.

तत्कालीन सरकार पर साधा निशाना

नरोत्तम मिश्रा ने तत्कालीन कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इंटेलिजेंस रिपोर्ट में कोरोना को लेकर खुलासा हुआ था, लेकिन तत्कालीन सरकार ने नहीं माना. दुबई से इंदौर फ्लाइट आई और उसमें आए लोगों से इंदौर के बाद दूसरी जगहों पर कोरोना फैला है. यदि इंटेलिजेंस की रिपोर्ट को मान लेते तो मध्य प्रदेश में कोरोना नहीं फैलता. नरोत्तम मिश्रा ने अस्पताल प्रबंधन को सलाह देते हुए कहा कि जितने भी कोरोना मरीज ठीक हुए हैं उन्हें हर रोज फोन लगाकर यह सलाह दी जाएगी वह आसपास के लोगों को जागरूक करें.

ये भी पढ़ें: MP: उपचुनाव से पहले दिग्विजय-उमंग विवाद को BJP ने दी हवा, CBI जांच की मांग

CM शिवराज के निर्देशों के बावजूद सितंबर तक की फीस वसूल रहे हैं निजी स्कूल
First published: June 1, 2020, 1:12 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading