• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP News : हर तरफ बाढ़, बारिश और तबाही के बीच युद्ध स्तर पर जारी है राहत-बचाव कार्य

MP News : हर तरफ बाढ़, बारिश और तबाही के बीच युद्ध स्तर पर जारी है राहत-बचाव कार्य

पूरे ग्वालियर चंबल इलाके में हर तरफ सिर्फ तबाही ही तबाही का मंजर है.

पूरे ग्वालियर चंबल इलाके में हर तरफ सिर्फ तबाही ही तबाही का मंजर है.

ग्वालियर-चंबल में बाढ़ (Flood) से हालात बिगड़ गए हैं. इस बीच 15 गांव खाली कराए गए हैं, तो अभी भी सैकड़ों लोग पानी से घीरे हुए हैं. यही नहीं, जिधर नजर डालो सिर्फ पानी ही पानी, परेशान लोग और तबाही दिखाई देती है.

  • Share this:

भोपाल. एमपी का ग्वालियर चंबल संभाग बारिश और बाढ़ (Flood) से कराह उठा है. जहां भी नजर डालो सिर्फ पानी ही पानी, परेशान लोग और तबाही दिखाई देती है. बारिश थमने का नाम नहीं ले रही. इसलिए हालात सुधर नहीं पा रहे हैं. बारिश के बीच बचाव और राहत कार्य युद्ध स्तर पर जारी है. सेना सहित प्रशासन और तमाम एजेंसी राहत और बचाव कार्य में जी जान से जुटी हुई हैं. घर दुकान, किसान खेत सब बर्बाद हो गए हैं.

अब तक बाढ़ और बारिश से बने हालातों पर नजर डालें तो चंबल नदी मुरैना में खतरे के निशान से 5.25 मीटर ऊपर है. उदी घाट भिंड पर खतरे के निशान से 2 मीटर ऊपर है. कोटा बैराज से 2000 क्यूबिक्स पानी छोड़ा गया है जिसके कारण मुरैना के 79, भिंड के 25 और श्योपुर के 25 गांव में पानी भरने के हालात हो गए हैं. मुरैना में चंबल का जलस्तर 144.5 मीटर होने के कारण 29 गांव के आसपास पानी भर गया है. बुधवार की दोपहर तक 15 गांव खाली करा लिए गए थे. 14 गांव खाली कराए जाने की कवायद जारी है. भिंड में 4 गांव के लोगों को सिंध नदी के किनारे शिफ्ट किया गया है.flood in gwalior chambal

1281 गांव बाढ़ में घिरे
प्रदेश में 1281 गांव बाढ़ से प्रभावित हुए हैं.  6220 से ज्यादा लोगों को बचाया जा चुका है. 1000 लोग अभी भी पानी से घिरे हुए हैं. चंबल और ग्वालियर संभाग जिले में एसडीईआरएफ की 29 टीम, एनडीआरएफ की 6 टीम, आर्मी के 4 कॉलम, एयर फोर्स के 5 हेलीकॉप्टर समेत 115 नाव को राहत और बचाव कार्य में लगाया गया है.

आर्मी के 4 कॉलम तैनात
एनडीआरएफ की 6 टीम कोलारस, करेरा, शिवपुरी,  सोनारी सतनवाड़ा में बचाव कार्य में जुटी हैं. भिंड में भी एनडीआरएफ की एक टीम को भेजा गया है. मुरैना के लिए 2 अतिरिक्त एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई हैं.  शिवपुरी, श्योपुर, दतिया, ग्वालियर जिले में  बचाव कार्य के लिए चार कॉलम आर्मी से मदद पहुंचाई जा रही है. मुरैना भिंड के लिए आर्मी का एक एक कॉलम भेजा गया है.

वायुसेना कर रही है रेस्क्यू
2 अगस्त से 5 b17 हेलीकॉप्टर, एक एएलएच हेलीकॉप्टर वायु सेना ने बचाव कार्य के लिए ग्वालियर भेजे थे. 2 अगस्त की शाम से 4 अगस्त तक मौसम की खराब होने के कारण हेलीकॉप्टर से बचाव कार्य नहीं हो सका. मौसम खराब होने के बावजूद 3 अगस्त की शाम और 4 अगस्त को एयर फोर्स के हेलीकॉप्टरों से 164 लोगों को बचाया गया है. साथ ही भोजन के पैकेट वितरित किए गए हैं.flood in gwalior chambal

रेलवे ट्रैक को नुकसान
टेलिकम्युनिकेशन रीस्टोरेशन का कार्य शुरू किया गया है. ग्वालियर शिवपुरी गुना के बीच में तीन जगह रेलवे ट्रैक को नुकसान हुआ है। इसे ठीक करने की कोशिश की जा रही है. साथ ही सरकार ने राहत कैंप शुरू कर दिए हैं. बचाव कार्यो पर नजर डालें तो शिवपुरी में तहसील नरवर शिवपुरी कोलारस, सीहोर मगरोनी, काली पहाड़ी, भेकवा,  बिजोरा नरवर बदरवास क्षेत्र में बचाव कार्य जारी हैं. शिवपुरी के गांव पिपलोदा में पांच, कोलारस सिटी में छह और गथाना बदरवास में 23 व्यक्तियों को बाहर से सुरक्षित निकाला गया है. मुरैना के दिमनी में चार लोगों को और 7 बच्चों को होमगार्ड की टीम ने रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया है. मुरैना में भागीरथ गांव में 17 व्यक्तियों को रेस्क्यू किया गया है. ग्वालियर के गांव लिधौरा में 25 लोगों का रेस्क्यू हुआ है. भितरवार में 30 व्यक्तियों को रेस्क्यू किया गया है.

24 घंटे का अलर्ट
मौसम विभाग ने अभी अगले 24 घंटों का अलर्ट जारी किया है. ऐसे में अगले कुछ घंटे ग्वालियर चंबल के लिए खास होंगे. यदि बादलों से बरस रही आफत थमती है तो राहत और बचाव कार्य तेजी के साथ शुरू हो सकेगा.सरकार ने बाढ़ और बारिश से मृत लोगों के आश्रितों को 4 लाख की मदद देने का ऐलान किया है. राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा है कि बाढ़ प्रभावित इलाकों में कलेक्टर्स को राहत और बचाव कार्य तेजी के साथ करने और खाने के पैकेट बांटने के निर्देश हैं. बाढ़ का पानी उतरने के साथ ही सर्वे के आधार पर लोगों मदद की जाएगी. फिलहाल बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने में ही सरकार लगी हुई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज