MP : भू-माफिया के खिलाफ सुस्त हुई पुलिस, 1000 थानों में सिर्फ 150 मामलों में कार्रवाई
Bhopal News in Hindi

MP : भू-माफिया के खिलाफ सुस्त हुई पुलिस, 1000 थानों में सिर्फ 150 मामलों में कार्रवाई
सरकार ने माफिया और चिटफंड कंपनियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं

कांग्रेस (Congress) का आरोप है कि सरकार की शह पर भू-माफिया (land mafia) पनप रहा है. इसलिए पुलिस उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर पा रही है

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में सीएम शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर भू-माफिया के खिलाफ जोर-शोर से शुरू की गयी मुहिम सुस्त पड़ गयी है. दो महीने में सिर्फ 150 भू माफिया पर छुट-पुट कार्रवाई ही की गयी. ये हाल तब है जबकि प्रदेश में एक हजार थाने हैं. कांग्रेस का सीधा आरोप है कि माफिया को सरकार की शह मिली हुई है इसलिए पुलिस के हांथ बंधें हुए हैं.

एमपी पुलिस ने भू माफिया के खिलाफ अभियान छेड़ा था. लेकिन इस अभियान की गति कछुआ चाल की तरह है. प्रदेश में 1000 थाने हैं. उसके बावजूद दो महीने में पुलिस ने सिर्फ 150 भू-माफिया के खिलाफ कार्रवाई की. हाल ही में प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने पुलिस मुख्यालय में गृह विभाग के काम की समीक्षा की. उन्होंने अपराध अनुसंधान की समीक्षा के दौरान पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया भूमाफिया और चिटफंड  कम्पनियों के विरुद्ध सख्ती से कार्रवाई की जाए. उन्होंने कहा था कि गरीबों के साथ धोखाधड़ी करने वाली कंपनियों और माफिया से गरीबों का पैसा लौटाने के लिये भी आवश्यक कदम उठाये जाएं. पुलिस अधिकारियों ने बैठक में बताया था कि इस मामले में 150 से ज्यादा शिकायतें मिली हैं. चिटफंड कम्पनियों से करीब डेढ़ करोड़ रुपया लोगों को लौटाया गया है.

1000 थानों में सिर्फ 150 शिकायत
प्रदेश में करीब एक हजार थाने हैं. इनमें सबसे ज्यादा थाने बड़े शहरों में हैं. ऐसे में यदि 2 महीने में सिर्फ 150 मामलों में ही कार्रवाई हुई तो सवाल जरूर खड़ा होता है. ऐसा नहीं है कि प्रदेश में चिटफंड कंपनी और भू माफिया सक्रिय न हो. उनकी शिकायतें भी थाने में आती हैं. लेकिन शिकायत सिर्फ जांच तक सिमट कर रह जाती है. ऐसे में सरकार की मंशा पर पुलिस तेजी से कार्रवाई नहीं कर रही है. 60 दिन में सिर्फ 150 मामलों में कार्रवाई करना यह बताता है कि पुलिस किस गति से काम कर रही है. जबकि सरकार ने माफिया और चिटफंड कंपनियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. यदि कार्रवाई में गति नहीं आती है तो कई सवाल मध्य प्रदेश पुलिस पर खड़े होते हैं.
कांग्रेस ने उठाए सवाल


प्रदेश कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने आरोप लगाया कि माफिया को सरकार संरक्षण दे रही है. इसलिए पुलिस इनके खिलाफ सख्ती से कार्रवाई नहीं कर पा रही है. बीजेपी के अंदर ही कई माफिया पनप रहे हैं. उन्हें संरक्षण मिल रहा है. यही कारण है कि उनके खिलाफ अगर शिकायत होती भी है तो कोई कार्रवाई नहीं की जाती. सरकार ने निर्देश जरूर दिए हैं लेकिन पुलिस सिर्फ छुटपुट कार्रवाई ही कर रही है. बड़े मगरमच्छ अभी भी बचे हुए हैं.

आगे-आगे देखिए होता है क्या
कांग्रेस के इस आरोप पर बीजेपी ने जवाब दिया है. पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा, माफिया को कांग्रेस सरकार ने पाला था. लेकिन अब उसे छोड़ा नहीं जाएगा. चाहे कितना भी बड़ा माफिया हो, उसके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. अभी अभियान की शुरुआत हुई है. आगे-आगे देखिए होता है क्या?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज