Assembly Banner 2021

Rising Madhya Pradesh 2021 : सज्जन सिंह वर्मा की चेतावनी- जो जाना चाहें वो चले जाएं, कांग्रेस पवित्र हो जाएगी

सज्जन सिंह वर्मा ने पूछा-उंगली उठाने वाले नेता कांग्रेस की मज़बूती के लिए क्या कर रहे हैं.

सज्जन सिंह वर्मा ने पूछा-उंगली उठाने वाले नेता कांग्रेस की मज़बूती के लिए क्या कर रहे हैं.

Rising Madhya Pradesh 2021 : सज्जन सिंह वर्मा ने कहा जो 23 नेता राहुल गांधी पर उंगली उठा रहे हैं वो बताएं कि आज जब कांग्रेस (Congress) संकट से गुजर रही है तो उन लोगों ने पार्टी को मज़बूत करने के लिए क्या किया.

  • Share this:


भोपाल.NEWS18 मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ में Rising Madhya Pradesh 2021 के मंच पर आज कांग्रेस की पीड़ा भी छलकी.ये पीड़ा कांग्रेस में बगावत और पार्टी के कमज़ोर होने की थी. प्रदेश की सत्ता हाथ से जाने की थी.कार्यक्रम में शामिल होने आए कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कोई और भी पार्टी छोड़ना चाहे तो छोड़ दे, ताकि कांग्रेस (Congress) पवित्र हो जाए.

सज्जन सिंह वर्मा NEWS18 मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ में Rising Madhya Pradesh 2021 के मंच पर थे.विषय था सियासी वीर-सवालों के तीर.इस सेशन में उनके साथ प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव थे.उसी दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयान का ज़िक्र हुआ जिसमें उन्होंने कहा था कि संघ की घुसपैठ अब शैक्षणिक संस्थानों में हो रही है.इस पर सज्जन सिंह वर्मा ने कहा ये सिर्फ हम नहीं जनता भी कहती है कि संघ के एजेंडे पर राज्य और केंद्र सरकार चलती हैं.संघ जितनी चाभी भरता है सरकारें उतनी चलती हैं.भारत में ऐसा कौन सा क्षेत्र है जहां संघ ने दखल नहीं दी.सरकारी दफ्तरों से लेकर स्कूलों तक में दखल बढ़ाया. इस पर मोहन यादव ने कहा खुद संघ की तारीफ राहुल की पार्टी के नेता कर चुके हैं.1936 में संघ की शाखा में महात्मा गांधी गए थे.1962 के चीन युद्ध के बाद 1965 में तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने संघ की भूमिका की तारीफ की थी.इंदिरा गांधी ने विवेकानंद स्मारक के संदर्भ में संघ का जिक्र किया था.भीम बैठिका की खोज करने वाले पुरातत्तवविद डॉ वाकणकर को 1975 में पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया था, तो अब और कुछ कहने की ज़रूरत नहीं.

सज्जन की खरी-खरी


दोनों नेताओं के बीच बहस चल ही रही थी कि मोहन यादव ने ज़िक्र छेड़ दिया कि कांग्रेस के 23 नेताओं ने राहुल गांधी को चुनौती दी है. कहा है कि वो राजनीति में मेच्योर नहीं हैं.यादव की इस बात पर सज्जन सिंह वर्मा ने कहा जो 23 नेता राहुल गांधी पर उंगली उठा रहे हैं कांग्रेस ने उन नेताओं को राज्य से लेकर केंद्र और संगठन में महत्वपूर्ण पद दिए.लेकिन आज जब कांग्रेस संकट से गुजर रही है तो उन लोगों ने पार्टी को मज़बूत करने के लिए क्या किया.वो नेता आज कहां हैं.कहीं जाकर खड़े हो रहे हैं क्या, राहुल के हाथ मज़बूत कर रहे हैं क्या. जो जाना चाहे वो कांग्रेस से बाहर चले जाएं. कम से कम कांग्रेस पवित्र तो होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज