COVID-19: भोपाल में कोरोना योद्धाओं को RSS ने बांटे 200 PPE किट और सुरक्षा उपकरण, फूल भी बरसाए

नगर निगम के कोरोना कर्मवीरों का फूलों की बारिश कर स्वागत किया.

नगर निगम के कोरोना कर्मवीरों का फूलों की बारिश कर स्वागत किया.

भोपाल (Bhopal) के गुफा मंदिर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के पदाधिकारियों ने नगर निगम के जमीनी अमले (स्वास्थ्य कर्मचारी, सफाई दरोगा और सहायक स्वास्थ्य अधिकारियों) को पीपीई किट और दूसरे सुरक्षा उपकरण बांटे

  • Share this:
भोपाल. कोरोना योद्धाओं (Corona Warriors) के लिए यूं तो लगातार मदद के लिए हाथ आगे बढ़ रहे हैं. लेकिन अब इस मोर्चे पर साथ देने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) भी सामने आया है. आरएसएस की ओर से रविवार को मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) में नगर निगम के कोरोना कर्मवीरों को सुरक्षा उपकरण बांटे गए. इसमें पीपीई किट, मेडिकेटेड ग्लब्स, मास्क और सैनिटाइजर शामिल है. भोपाल के गुफा मंदिर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान संघ के पदाधिकारियों ने नगर निगम के जमीनी अमले (स्वास्थ्य कर्मचारी, सफाई दरोगा और सहायक स्वास्थ्य अधिकारियों) को पीपीई किट और दूसरे सुरक्षा उपकरण बांटे.



इस दौरान सभी कोरोना कर्मवीरों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ लाइन में खड़ा किया गया और उन्हें यह सभी चीजें बांटी गई. खास बात यह रही कि इस दौरान संघ के स्वयंसेवकों ने नगर निगम के कोरोना कर्मवीरों पर फूलों की बारिश कर उनका स्वागत किया.



बांटे गए 200 कोरोना योद्धाओं को किट और मास्क

आरएसएस की ओर से करीब 200 कोरोना कर्मवीरों को पीपीई किट, ग्लब्स मास्क और हैंड सैनिटाइजर दिया गया. यह सभी नगर निगम के वह कर्मचारी हैं जो कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जमीनी स्तर पर काम कर रहे हैं. इस काम को करते हुए इनके संक्रमित होने का सबसे ज्यादा खतरा रहता है. इसी को देखते हुए संघ ने इन्हें यह सभी चीजें बांटने का फैसला किया.
जमीन पर काम करे हैं नगर निगम के कर्मचारी



हालांकि नगर निगम का अमला तब से जमीन पर काम कर रहा है जब से पहली बार लॉकडाउन (Lockdown) का ऐलान किया गया था. ऐसे में जरूरी था कि उन्हें तुरंत यह सभी उपकरण मुहैया कराए जाते. लेकिन तकरीबन 40 दिनों बाद ही सही संघ की ओर से उन्हें यह सभी चीजें उपलब्ध कराई गई हैं. कई कर्मवीरों का कहना था कि अगर यह किट उन्हें पहले दी जाती तो शायद ज्यादा बेहतर होता.



ये भी पढ़ें:



मिसालः कोरोना वायरस के शिकार लोगों के "सगे" बनकर अंतिम विदाई दे रहे सफाईकर्मी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज