लाइव टीवी

प्रदेश अध्यक्ष के फोन के बाद साध्वी प्रज्ञा ने खत्म किया MLA के खिलाफ धरना, बोलीं- लेकिन लड़ाई जारी रहेगी

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 7, 2019, 11:26 PM IST
प्रदेश अध्यक्ष के फोन के बाद साध्वी प्रज्ञा ने खत्म किया MLA के खिलाफ धरना, बोलीं- लेकिन लड़ाई जारी रहेगी
रिपोर्ट न लिखे जाने पर थाने में ही धरने पर बैठ गईं साध्वी प्रज्ञा

साध्वी प्रज्ञा (Sadhvi Pragya) अपने खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने वाले कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी (Goverdhan Dangi) के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कराने कमला नगर थाने पहुंची. पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की तो साध्वी थाने के बाहर धरने पर बैठ गईं.

  • Share this:
भोपाल. बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा को जलाने की धमकी देने वाले कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी के बयान को लेकर शुरू हुआ विवाद फिलहाल थमता नजर नहीं आ रहा है. शनिवार को बीजेपी की भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा गोवर्धन दांगी के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कराने की मांग को लेकर कमला नगर थाने पहुंची. थाने में 2 घंटे तक इंतजार करने के बाद भी जब उनकी एफआईआर नहीं लिखी गई तो साध्वी प्रज्ञा थाने के बाहर धरना देकर बैठ गईं. उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस कांग्रेस सरकार के दबाव में उनकी रिपोर्ट नहीं लिख रही है.

हालांकि थोड़ी देर के बाद साध्वी प्रज्ञा ने अपना धरना खत्म भी कर दिया. खबर है कि प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह का फोन आने के बाद उन्होंने अपना ये धरना खत्म किया. वहीं साध्वी प्रज्ञा का का कहना है कि आज धरना यहीं खत्म किया है, लेकिन आगे लड़ाई जारी रहेगी. वहीं इस मामले में पुलिस का कहना था कि मामला उनके थाना क्षेत्र का नहीं है लिहाजा एफआईआर नहीं लिखी जा सकती.

क्या है मामला?
दरअसल साध्वी प्रज्ञा के नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान के बाद कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी ने अपने एक बयान में यह कहा था कि वह साध्वी प्रज्ञा को जिंदा जला देंगे हालांकि बाद में उन्होंने अपने इस बयान पर माफी मांग ली लेकिन साध्वी प्रज्ञा ने इस मुद्दे को नहीं छोड़ा और उन्होंने ट्वीट करके चेतावनी दी थी कि 8 दिसंबर को वह गोवर्धन दांगी के घर जाएंगी अगर वह उन्हें जलाना चाहते हैं तो जला लें. लेकिन 8 तारीख से 1 दिन पहले ही साध्वी प्रज्ञा गोवर्धन दांगी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने कमला नगर थाने पहुंच गईं.


साध्वी प्रज्ञा के धरने से बीजेपी नेताओं की दूरी
साध्वी प्रज्ञा गोवर्धन दांगी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग को लेकर कमला नगर थाने पहुंची तो जरूर लेकिन बीजेपी नेताओं ने उनसे दूरी बना कर रखी बीजेपी के जिलाध्यक्ष विकास विरानी के अलावा कोई भी बड़ा नेता साध्वी प्रज्ञा के साथ थाने में नजर नहीं आया.

ये भी पढ़ें -
हैदराबाद एनकाउंटर पर दिग्विजय की पत्नी ने कहा- भीड़तंत्र को अधिकार दिया तो कोई सुरक्षित नहीं रहेगा
प्रदेश के अस्पतालों की व्यवस्था सुधारने के लिए ये है कमलनाथ सरकार का एक्शन प्लान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 7, 2019, 11:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर