सिंधिया ने कमलनाथ और दिग्विजय को दी चुनौती, कहा- अब मैं जवाब देने के लिए मैदान में आ गया हूं 
Bhopal News in Hindi

सिंधिया ने कमलनाथ और दिग्विजय को दी चुनौती, कहा- अब मैं जवाब देने के लिए मैदान में आ गया हूं 
उमा भारती से मिलने पहुंचे सिंधिया का उनके निवास पर मंत्र उच्चारण के साथ स्वागत किया गया. (फाइल फोटो)

ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने भोपाल में बीजेपी नेता उमा भारती से भी मुलाकात की. दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में 15 से 20 मिनट की चर्चा हुई. इसमें ग्वालियर इलाके की 16 सीटों को जीतने के लिए चर्चा की गई.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश प्रदेश (Madhya Pradesh) के 25 विधानसभा सीटों के उपचुनाव को लेकर बीजेपी आज से चुनाव प्रचार में जुट गई है. ज्योतिरादित्य सिंधिया और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आज से संयुक्त दौरे की शुरुआत हुई है. इससे पहले भोपाल आए ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए दिग्विजय सिंह और कमलनाथ (Digvijay Singh and Kamal Nath) पर सीधे निशाना साधा. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कमलनाथ और दिग्विजय को चुनौती देते हुए का कि इनको जवाब देने के लिए अब मैं मैदान में आ गया हूं.

सिंधिया ने कांग्रेस के 15 महीने की सरकार पर भी जमकर निशाना साधा. सिंधिया ने कहा प्रदेश की जनता का कांग्रेस से मोहभंग हो चुका है. कांग्रेस में भ्रष्टाचार की सरकार चली थी. साथ ही उन्होंने कहा कि विभागों के बंटवारे को लेकर कांग्रेसी सवाल कर रहे हैं. उनको मालूम होना चाहिए कि 15 महीने जब तक कांग्रेस सत्ता में रही तब तक वल्लभ भवन से पूरी भ्रष्टाचार की सरकार चल रही थी. 90 दिन तक में चुपचाप रहा क्योंकि कोरोना का संक्रमण था. लेकिन 90 दिन तक कमलनाथ और दिग्विजय सिंह राजनीतिक रोटियां सेक रहे थे. जनसेवा के लिए कोई काम नहीं हुआ. सिंधिया ने कहा कि 15 महीने की सरकार और कोरोना में सिर्फ भ्रष्टाचार हुआ. इनको जवाब देने के लिए अब मैं मैदान में आ गया हूं.

मंत्रिमंडल और विभागों के बंटवारे को भूल जाइए
सिंधिया ने विभागों के बंटवारे पर कहा है कि मंत्रिमंडल और विभागों के बंटवारे को भूल जाइए. सभी मंत्री जन सेवक के तौर पर काम कर रहे हैं. बीते 15 महीने में जो विकास रुक गया था उसे गति देने का काम होगा. मंत्री अब जनसेवक के तौर पर काम करेंगे. वहीं, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भोपाल में बीजेपी नेता उमा भारती से भी मुलाकात की. दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में 15 से 20 मिनट की चर्चा हुई. इसमें ग्वालियर इलाके की 16 सीटों को जीतने के लिए चर्चा की गई. दरअसल उमा भारती बीजेपी की बड़ी नेता होने के साथ ही लोधी समाज की नेता हैं. ऐसे में लोधी वोटों को साधने के लिए सिंधिया और उमा भारती की मुलाकात को अहम माना जा रहा है.



जीत के लिए प्रचंड आशीर्वाद दिया है
 सिंधिया से मुलाकात पर उमा भारती ने कहा है कि उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया को जीत के लिए प्रचंड आशीर्वाद दिया है. उमा भारती से मिलने पहुंचे सिंधिया का उनके निवास पर मंत्र उच्चारण के साथ स्वागत किया गया. उमा भारती ने सिंधिया से मुलाकात पर कहा है कि उनका सिंधिया परिवार से पुराना रिश्ता रहा है. राजमाता सिंधिया से उनके अच्छे रिश्ते थे. प्रदेश में चाहे कांग्रेस या फिर बीजेपी की सरकार रही हो. हमेशा से ज्योतिरादित्य सिंधिया से मेरा संपर्क रहा है. ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव में जीतने के लिए मैंने प्रचंड आशीर्वाद दिया है और चुनाव में वह ज्योति की तरह जगमगाए कर जीत हासिल करेंगे. प्रदेश में नहीं बल्कि देश में भी जगमग होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading